आतंकवाद और चरमपंथ से लड़ने के लिए भारत और फ्रांस ने मिलाया हाथ, और अधिक प्रगाढ़ होंगे रिश्ते

0
171

नई दिल्ली- प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी अपनी चार देशों की यात्रा के अंतिम पड़ाव के दौरान फ्रांस पहुंचे है | वहां उन्होंने फ्रांस के नव निर्वाचित राष्ट्रपति इमैन्युएल मैकरॉन से शनिवार को मुलाकात की है | दोनों ही देशों के नेताओं के साथ हुई इस मुलाकात में यह तय किया गया है कि दोनों ही देश आतंकवाद और चरमपंथ के खिलाफ लड़ी जाने वाली लड़ाई में परस्पर सहयोग को बढ़ावा देंगे | साथ ही दोनों देशों के संबंधों को और अधिक प्रगाढ़ करने पर भी जोर दिया गया है |

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति से मुलाकात करने के बाद संयुक्त प्रेस वार्ता के दौरान कहा है कि आज आतंकवाद वह सबसे बड़ी चुनौती है जिसका सामना पूरा विश्व कर रहा है | प्रधानमंत्री ने यह भी कहा है कि फ़्रांस आतंकवाद के खतरे को समझता है, उन्होंने अपने वक्तब्य के दौरान आगे कहा है कि आतंकवाद फ़्रांस और भारत ही नहीं अपितु समूची दुनिया को प्रभावित कर रहा है | आज उससे लड़ने के लिए पूरी दुनिया को एकजुट होने की आवश्यकता है |

संयुक्त प्रेस वार्ता के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा है कि भारत और फ्रांस दोनों ही देश आतंकवाद के सभी प्रारूपों के साथ लड़ने को एकजुट है और हम आपसी सामंजस्य को और अधिक बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है | प्रधानमंत्री ने कहा है कि फ्रांस और भारत दोनों ही राष्ट्र द्विपक्षीय और बहुपक्षीय संबंधों को आगे बढाने के लिए बाध्य है | हम चाहे व्यापार हो या प्रौद्योगिकी, नवोन्मेष और निवेश, ऊर्जा, शिक्षा और उद्यम ही क्यों ना हो, हम भारत – फ्रांस संबंधों को प्रोत्साहन देना चाहते हैं |

साल के अंत तक भारत आयेंगे फ़्रांस के राष्ट्रपति-
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैन्युएल मैकरॉन को भारत आने का निमंत्रण भी दिया जिसे स्वीकार करते हुए फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने कहा है कि वह साल के अंत तक भारत अवश्य आयेंगे और इतना ही नहीं दोनों देश विश्व सौर गठजोड़ की एक बैठक आयोजित करेंगे |

मोदी का गले मिल कर स्वागत किया फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने –
बताते चले कि इससे पहले फ़्रांस के प्रेसीडेंशियल एलसी पैलेस के प्रांगण में मैकरॉन ने प्रधानमंत्री श्री मोदी के गले लगकर उनका अभिवादन किया | इस वक्त प्रधानमंत्री श्री मोदी के लिए फ्रांसीसी राष्ट्रपति द्वारा एक भोज का आयोजन किया गया था | आपको यह भी बता देते है कि फ्रांस भारत का नौवां सबसे निवेश में साझेदार देश है | यह यूरोपीय देश रक्षा, अंतरिक्ष, परमाणु और नवीकरणीय ऊर्जा, शहरी विकास तथा रेलवे जैसे क्षेत्रों में भारत की विकास कोशिशों में एक अहम साझेदार भी है |

सबसे कम उम्र के फ्रांसीसी राष्ट्रपति है मैकरॉन –
गौरतलब है कि हाल ही में संपन्न हुए फ़्रांस के आम चुनावों के दौरान मैकरॉन ने बड़ी जीत दर्ज की थी और वे फ़्रांस के अब तक के सबसे कम उम्र के राष्टपति है | उन्होंने यह कारनामा महज 39 वर्ष की कम उम्र में ही किया है | इससे पहले आपको बताते चलते है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी रूस गए हुए थे जहाँ उनकी मुलाकात रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन के साथ हुई और दोनों की यह मुलाकात काफी चर्चा का विषय बनी हुई थी | वह रूस में इंटरनेशनल इकोनॉमिक फोरम में भी शरीक हुए थे | रूस से पहले प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने जर्मनी और स्पेन की यात्रा की थी और शीर्ष नेत्र्तत्व के साथ वार्ता भी की थी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here