पीएम मोदी की US यात्रा से भारत को मिली बड़ी सफलता MTCR ग्रुप में भारत को मिल गयी एंट्री

0
4525

वाशिंगटन- प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के पहले ही दिन भारत को एक बहुत बड़ी सफलता हाथ लगी है | भारत को यह बड़ी सफलता मिली है मिसाइल टेक्नालाजी कंट्रोल रिजीम (एमटीसीआर) ग्रुप में शामिल होने से | एमटीसीआर ग्रुप के सभी देश भारत को अपने इस ग्रुप में शामिल करने पर राजी हो गए है | इस ग्रुप का हिस्सा बनते ही अब भारत दुनिया के तमाम विकसित देशों से मिसाइल की अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी भी खरीद सकता है |

क्या है एमटीसीआर-
एमटीसीआर में दुनिया भर के कुल 34 देश शामिल है | MTCR के ज्यादातर वही देश सदस्य है जो मिसाइल निर्माता देश है | MTCR की स्थापना अप्रैल 1987 में हुई थी | इस संस्था का एकमात्र उद्देश्य है कि यह बैलेस्टिक मिसाइल तथा अन्य मानव रहित आपूर्ति प्रणालियों के विस्तार को सीमित करना है | ऐसे हथियारों के प्रयोग को भी सीमित करना है जिनका रासायनिक, जैविक और परमाणु हमलों में प्रयोग किया जा सकता है |

भारत वर्ष 2008 से स्वतः ही MTCR का पालन कर रहा था | MTCR में एंट्री मिलने के बाद माना जा रहा है कि भारत और अमेरिका, अमेरी ड्रोन विमानों को भारतीय सेना में शामिल करने की बातचीत पर बहुत तेजी से आगे बढ़ाएंगे |

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने किया था खुलकर समर्थन –
भारत के एमटीसीआर की सदयस्ता के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने खुलकर समर्थन किया था | बराक ओबामा ने न केवल MTCR के लिए ही भारत का समर्थन किया था बल्कि अन्य तीन निर्यात संस्थाओं, आस्ट्रेलिया समूह, परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह और वासेनार समझौतों में भी भारत का खुलकर समर्थन किया था | ओबामा प्रशासन ने भारत के NSG ग्रुप में भी सम्मिलित करने का समर्थन किया था लेकिन इस ग्रुप में चीन भारत को सम्मिलित नहीं होने चाहता है | हालाँकि प्रधानमंत्री मोदी ने अभी तक की सभी समस्याओं को सुलझाते हुए भारत के पक्ष में लगभग सभी देशों को वोटिंग करने के लिए राजी कर लिया है | अव वैश्विक स्तर पर चीन अलग-थलग पड़ता हुआ दिखायी पड़ रहा है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY