अन्तरिक्ष के क्षेत्र में भारत ने रखा एक और बड़ा कदम, लांच कर दिया अब तक सबसे भारी राकेट GSLV-3

0
99

नई दिल्ली- देश का अब तक सबसे बड़ा राकेट जीएसएलवी मार्क-3 भारत ने लांच कर दिया है | इस राकेट के लांच के साथ ही भारत ने अन्तरिक्ष के क्षेत्र में एक बहुत बड़ा कदम रख दिया है | अब भारत स्वतः निर्मित बहुत 4000 टन वजनी और 10,000 टन तक के वजनी उपग्रहों को भी प्रथ्वी की कक्षा में पहुंचाने में सक्षम हो गया है | पहले भारत को इतने बड़े उपग्रहों को छोड़ने के लिए दुसरे देशों के लांचरों के ऊपर निर्भर रहना पड़ता था |

इस पूरे उपग्रह को छोड़ने की सबसे बड़ी खासबात यह है कि इसमें क्रायोजनिक इंजन लगा हुआ है | यह सफलता भारत को लगातार 15 सालों की मेहनत करने के बाद मिला है | इस उपग्रह के प्रक्षेपण के बाद अब भारत का भविष्य में अन्तरिक्ष यात्रियों को स्पेस में भेजने का रास्ता साफ़ हो गया है |

यह स्वदेशी राकेट संचार उपग्रह जीसैट-19 को लेकर अन्तरिक्ष में गया हुआ है | जीएसएलवी मार्क-3 राकेट को सोमवार शाम को श्रीहरिकोटा के शतीश धवन अन्तरिक्ष केंद्र से छोड़ा गया था और इसने बहुत ही आसानी से सभी स्टेजों को पार कर लिया तथा उपग्रह को अन्तरिक्ष में सफलतापूर्वक पहुंचा दिया था |

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कहा, ‘‘जीएसएलवी मार्क 3 के प्रक्षेपण के लिए 25 घंटे से अधिक की उल्टी गिनती अपराह्न तीन बजकर 58 मिनट पर शुरू हुई |’’ इसरो अध्यक्ष एस एस किरण कुमार ने कहा था कि मिशन महत्वपूर्ण है, ‘‘क्योंकि यह अब तक का सबसे भारी रॉकेट और उपग्रह है जिसे देश से छोड़ा जाना है |’’

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY