इसरो ने भेजे ब्रिटेन के 5 उपग्रह, अब तक का सबसे बड़ा कर्शियल लांच

0
351
photo credit twit by isro
photo credit twit by isro

сонникесть селедкуво сне 10 जुलाई भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने आँध्रप्रदेश के श्रीहरिकोटा प्रक्षेपण स्थल से ब्रिटेन के पांच उपग्रहों को लॉन्च कर दिया । यह इसरो का अब तक सबसे बड़ा कर्शियल प्रक्षेपण हैं I सभी उपग्रहों को पीएसएलवी-सी28 के जरिए प्रक्षेपित किया गया हैं ।

  • प्रक्षेपण यान – 44.4 मीटर लंबा पीएसएलवी-एक्सएल
  • शतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से इसे प्रक्षेपित किया गया
  • पांचों उपग्रहों का कुल वजन करीब 1,440 किलोग्राम है
  • इसरो अब तक यह सबसे बड़ा कर्शियल प्रक्षेपण ब्रिटेन के लिए कर रहा हैं
  • इस खेमे में तीन छोटे उपग्रह जा रहे हैं जिका वजन 447-447 किलो ग्राम हैं
  • एक माइक्रो उपग्रह हैं जिसका वजन 91 किलोग्राम हैं
  • और एक नैनो उपग्रह भी भेजा जा रहा हैं जिसका वजन मात्र 7 किलो ग्राम हैं

кто сейчас играет кто хочет стать миллионером  

словар таджикски руски расписание автобусов херсон железный порт विशेषतायें –

  1. यह इसरो और उसकी व्यावसायिक शाखा एंट्रिक्स कारपोरेशन का अब तक का सबसे अधिक भार वाला व्यावसायिक मिशन हो गया है।
  2. अपने 30वें मिशन में पीएसएलवी तीन आइडेंटिकल डीएमसी3 ऑप्टिकल अर्थ ऑब्जर्वेशन सेटेलाइट को अंतरिक्ष में ले जाएगा।
  3. इन तीनों उपग्रहों का निर्माण ब्रिटेन की सरे सेटेलाइट टेक्नोलॉजी ने किया है
  4. ब्रिटेन के पांच उपग्रहों को पीएसएलवी रॉकेट के जरिए लांच किया जाएगा
  5. पीएसएलवी रॉकेट का यह 30वां मिशन है
  6. इसे मिशन में ले जाए जाने वाले पांचों उपग्रह का कुल वजन 1440 किलोग्राम है
  7. इसरो और इसकी वाणिज्यिक इकाई एंट्रिक्स के लिए यह अब तक का सबसे बड़ा मिशन है
  8. इस मिशन के जरिए तीन एक जैसे डीएमसी3 ऑप्टिकल सेटेलाइट को प्रक्षेपित किये गए हैं
  9. इन तीन डीएमसी3 सेटेलाइट्स के अलावा दो सहायक माइक्रो सेटेलाइट को भी लांच किया गए है
  10. ब्रिटेन के तीन डीएमसी-3 उपग्रहों को 647 किमी दूर सन सिंक्रोनस ऑर्बिट में स्थापित किया गया हैं
  11. इस मिशन की सफल लॉन्चिंग के तुरंत बाद ही भारत कमर्शियल प्रक्षेपण करने वाला दुनिया का चौथा देश बन चुका हैं
  12. इन सेटेलाइट्स को लॉन्चर पर चढ़ाने के लिए इसरो ने दो खास एडॉप्टर तैयार किए हैं
  13. डीएमसीआइआई और एंट्रिक्स कॉरपोरेशन लि. के बीच हुए करार के तहत प्रक्षेपण किया जा रहा है