भारत ने विकसित कर ली है दुनिया की बेहतरीन तोप, ‘धनुष’

0
43932

dhanush tope

देश के दुश्मनों अब हो जाओ सावधान क्योंकि अब भारत को अपने तोप खाने को मजबूत करने के लिए किसी स्वीडन, अमेरिका, रूस या फिर किसी भी अन्य देश पर निर्भर होना नहीं पड़ेगा | अब भारत के दुनिया की सबसे बेहतरीन और शक्तिशाली तोप धनुष है | बहुत ही जल्द इस तोप को सेना में शामिल भी कर लिया जाएगा |

बोफोर्स के साथ खड़ी होगी या फिर बोफोर्स का स्थान लेगी धनुष –
बता दें कि भारत के पास फिलहाल स्वीडन में बनी हुई बोफोर्स तोपें है | यह वही तोपें है जिन्होंने वर्ष 1999 में पाकिस्तानी सेना को भारत के सामने घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया था | इन्ही तोपों की बदौलत भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना को कारगिल, द्रास जैसे ऊँचे और दुर्गम इलाकों से पीछे हटने पर मजबूर कर दिया था | भारत की स्वदेश में ही निर्मित धनुष इसी बोफोर्स तोपों के साथ भारतीय सीमाओं की सुरक्षा करेंगी |

बोफोर्स से है 2 पीढ़ी एडवांस –
बता दें कि भारत ने जिस धनुष तोप का निर्माण किया है यह तोप बोफोर्स से तक़रीबन 2 एडवांस तोप है और इसकी मारक क्षमता भी बोफोर्स की तुलना में तक़रीबन 2 गुना अधिक है | यह तोप बोफोर्स से टेक्नोलॉजी के मामले में भी बेहतर है क्योंकि बोफोर्स एक मैनुअल तोप है जबकि धनुष ऑटोमैटिक तोप है |

इसे भी पढ़ें – भारत की यह मिसाइल पूरे पाकिस्तान और चीन को कर सकती है तबाह, अमेरिका की टॉम हाक के टक्कर की है

हर मामले में है बोफोर्स से बेहतर –
बता दें कि धनुष तोप सभी मानकों पर बोफोर्स से एडवांस और खरी उतरी है | इस तोप की सबसे बड़ी बता यह है कि यह तोप पूरी तरह से हिन्दुस्तान में ही बनी हुई है | इसकी तकनीक भी पूर्णतः हिन्दुस्तानी ही है इसिलिये इसमें किसी भी प्रकार के सुधार के लिए हमें किसी अन्य देश की आवश्यकता नहीं पड़ने वाली है |

18 महीनों में तैयार हुई धनुष –
बता दें कि वर्ष 2011 में स्वीडन की कंपनी ने भारत में बोफोर्स तोप बनाने और बोफोर्स की तकनीक को भारत के साथ साझा करने के लिए तैयार हुई लेकिन बोफोर्स ने इसके लिए सेना और सरकार से 63 महीनों का समय माँगा था | इसी बीच भारतीय कंपनी ओएऍफ़सी ने भी एक नई तोप बनाने का प्रस्ताव सेना के सामने रखा जिसके बाद में सेना ने इसे मात्र 18 महीनों का ही वक्त दिया जिसके बाद ओऍफ़सी ने रिकार्ड समय में भारतीय सेना को तोप बनाकर सौंप दी |

इसे भी पढ़ें- भारतीय सेना के 10 वे सबसे बड़े हथियार जिनका पूरी दुनिया मानती है लोहा

तोप को सेना को सौंपने से पहले इस तोप से तक़रीबन 2000 राउंड फायर किये गए थे | यह तोप मानकों पर एकदम खरी उतरी थी | सेना ने भी इस तोप को अपने बेड़े में शामिल करने से पहले सियाचिन और राजस्थान के इलाकों में तक़रीबन 1500 राउंड फायर किये थे जब सभी फायर और सभी मानकों पर तोप एकदम खरी उतरी तब ही सेना ने इस तोप को अपने भारतीय सेना में शामिल करने का निर्णय लिया है |

एक नजर में धनुष –
धनुष तोप की बैरल का वजन -2692 किलो ग्राम है |
धनुष की रेंज 40 किमी, बोफोर्स से तक़रीबन 2 गुना |
3 फायर प्रतिमिनट के हिसाब से लगातार डेढ़ घंटे तक फायर कर सकती है |
12 फायर प्रतिमिनट करने में भी सक्षम है |
इसके एक गोले का वजन 46.5 किलो ग्राम होता है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here