बीफ एक्सपोर्ट करने के मामले में भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश

0
1966

cow-slaughter_1426368195-1440x564_cआजकल जिधर भी देखिये चाहे वह कोई राजनेता हो या फिर आम आदमी, हिन्दू हो या फिर मुसलमान हर किसी के मुंह पर और समूह में बात का सबसे बड़ा मुद्दा अगर कोई है तो है बीफ मुद्दा I देश के कई राज्यों में बीफ यानि की गाय के काटने पर पूरी तरह से प्रतिबन्ध लग चुका है I लेकिन कुछ राज्य अभी भी ऐसे है जहाँ पर गौ हत्या पर रोक नहीं लगी हुई है I अगर हम आकड़ों के आधार पर यह बात करें तो देश के 29 राज्यों में से 24 राज्यों में गौ-हत्या पर प्रतिबन्ध लग चुका है I

लेकिन यदि हम वास्तविकता की बात करें तो देश के विभिन्न राज्यों में आज भी प्रतिबन्ध लगे होने के बावजूद भी बूचड़ खाने काफी तेजी से चल रहे है I और यही नहीं भारत से तस्करी के जरिये से गो-वंश को विदेशों में भी कटने के लिए भेजा जाता है जिनमे से पाकिस्तान एक प्रमुख देश हैं I पाकिस्तान की एक रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में कटने वाले 70 प्रतिशत पशुओं की तस्करी भारत से ही होती है I

चौंकाने वाली बात तो यह है कि बीते वर्षों में भारत में प्रतिबन्ध होने के बावजूद भी गो-मांस और भैंस के मांस के निर्यात में 10 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है I आपको जानकार हैरानी होगी कि 2011 में बीफ की खपत 20.4 लाख टन थी, जो 2014 में बढ़कर 22.5 लाख टन हो गई है। और इतना ही नहीं अगर हम पशुओं की गणना के आकड़ों को देखें तो 2007 के मुकाबले 2012 तक गो वंश में 4.1 प्रतिशत की कमी आई है I और इनमें भी सबसे अधिक कमीं देशी गायों में आई है जो कि 9 प्रतिशत है I इसी समय में भैंसों की संख्या में सर्वाधिक तक़रीबन 18 प्रतिशत की कमीं दर्ज की गयी है I

हद की बात तो यह है कि बीफ का विरोध करने वाली सरकार के कार्यकाल में ही पिछले वर्ष भारत ने 19.5 लाख टन बीफ का निर्यात किया। भारत बीफ निर्यात में विश्व में नंबर 2 पर है। पिछले छह महीने में बीफ निर्यात में 15.58 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here