चीन ने दी भारत को चेतावनी कहा, दक्षिण चीन सागर विवाद से दूर ही रहे भारत नहीं तो …”

0
28199

chaina foriegn minister

बीजिंग- चीन ने एक बार फिर से भारत के खिलाफ अपना जहर उगल दिया है | चीन ने भारत को सीधे चेतावनी देते हुए कहा है कि, भारत को बिना किसी मतलब के दक्षिण चीन सागर विवाद से दूर रहना चाहिए, इसमें नहीं पड़ना चाहिए | चीन ने इशारों-इशारों में कहा है कि कहीं ऐसा न हो कि यह मुद्दा दोनों ही देशों के द्विपक्षीय संबंधों को प्रभावित करने वाला एक और कारण बन जाय |

इसी सप्ताह चीन के विदेश मंत्री भारत का दौरा कर रहे है –
ज्ञात हो कि चीन के विदेशमंत्री वांग यी इस सप्ताह 13 अगस्त को भारत के दौरे पर आ रहे है | इस दौरान चीनी विदेश मंत्री की मुलाक़ात उनकी समकक्ष भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी होनी है | ऐसा माना जा रहा है कि चीनी विदेश मंत्री के भारत दौरे के दौरान सुषमा स्वराज वांग यी के सामने परमाणु आपूर्ति कर्ता समूह में भारत की एंट्री का मुद्दा भी उठा सकती है |

चीनी सरकारी अख़बार के माध्यम से भारत को चेताया –
बता दें कि चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक चीन ने भारत को चेताते हुए कहा है कि चीनी विदेशमंत्री वांग यी के दौरे के दौरान अगर भारत चाहता है कि अच्छा वातावरण चाहता है तो उसे दक्षिण चीन सागर के विवादित मुद्दे से दूर रहना चाहिए | दोनों देशों के बीच क्षेत्रीय व्यापक भागीदारी के दौरान चीन को निर्यात होने वाले मेक इन इंडिया प्रोडक्ट्स पर शुल्क भी शामिल है जिनपर मुक्त व्यापार की बातचीत चल रही है |

ग्लोबल टाइम्स की खबर में यह भी कहा गया है कि भारत अपने घरेलू उद्योगों को संरक्षित करने के लिए चीन में बने उत्पादों के शुल्क पर सिर्फ नाम मात्र की ही कटौती कर सकता है | उसने लिखा है कि यदि भारत और अधिक चीन से शुल्क में कटौती की उम्मीद करता है तो उसे दक्षिण चीन सागर के विवादित मुद्दे से दूर ही रहना चाहिए | चीन अखबार ने लिखा है कि अगर भारत ऐसा नहीं करता है तो निश्चित ही यह एक बेवकूफी भरा निर्णय होगा | चीन यही नहीं रुका चीनी अख़बार ने लिखा है कि अगर भारत दक्षिण चीन सागर के मुद्दे पर अपनी टांग अडाता है तो इससे दोनों ही देशों के रिश्तों में और अधिक खटास आ सकती है |
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here