भारत ने रूस और पाकिस्तान के बीच हो रहे सैन्य अभ्यास पर रूस से आपनी आपत्ति जताई, भारत आ रहे पुतिन…

0
1050

pm modi and russian president
पाकिस्तान को दुनिया से अलग-थलग करने की भारत की कवायद के बीच पाकिस्तान और रूस के बीच हो रहे सैन्य अभ्यास को लेकर भारत ने रूस से अपनी आपत्ति जाहिर की है | भारत यह विरोध ऐसे समय में दर्ज कराया है कि जब रूस के राष्ट्रपति पुतिन भारत और रूस के बीच वार्षिक रूप से होने वाले द्विपक्षीय शिखर सम्मलेन के लिए भारत आने वाले हैं | भारत ने इस संयुक्त अभ्यास पर अपना विरोध जताते हुए कहा कि आतंक के सरपरस्त देश के साथ सैन्य अभ्यास समस्याएं बढ़ाएगा |

मास्को में भारत के राजदूत पंकज सरन ने एक इंटरव्यू के द्दौरान बताया कि हमने रूस को अपने विचारों से अवगत करवा दिया है, आतंकवाद को पनाह और बढ़ावा देने वाले पाकिस्तान के साथ सैन्य अभ्यास एक गलत रुख है और इससे समस्याएँ जन्म लेंगी | हालांकि रूसी अधिकारियों ने इन चिंताओं को तवज्जो नहीं दी है और कहा कि वे क्षेत्र के अन्य देशों के साथ भी इस तरह के सैन्य अभ्यास करते रहे हैं |

सरन ने कहा, ‘आज दुनिया के सामने कुछ ज्वलंत मुद्दे हैं जिन पर ब्रिक्स देश निश्चित रूप से ध्यान देंगे और इनमें आतंकवाद का प्रश्न और ब्रिक्स समूह के सभी देशों के सामने आतंकवाद के खतरे का विषय शामिल है, इस तरह यह क्षेत्रीय संघर्ष और वैश्विक हालात के अलावा सम्मेलन में विचार-विमर्श का प्रमुख मुद्दा होगा |’

रुसी राष्ट्रपति putin के इस दौरे पर भारत और रूस के बीच सुरक्षा, रक्षा और व्यापार के क्षेत्र में महत्त्वपूर्ण समझौते होने हैं, साथ ही पीएम मोदी और राष्ट्रपति पुतिन कई अतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here