भारत ने किया पृथ्वी-2 इंटरसेप्टर मिसाइल का परीक्षण, पाकिस्तान के उड़े होश

0
33878

ज्ञात ही कि भारत ने रविवार को ही ओड़िसा के एपीजे अब्दुल कलाम आइलैंड से पूरी तरह से स्वदेश में निर्मित इंटरसेप्टर मिसाइल प्रथ्वी-2 का सफल परिक्षण किया है | डीआरडीओ ने इस मिसाइल को विकसित किया है और यह पूर्णतः स्वदेशी तकनीक पर आधारित मिसाइल है | इसे रविवार सुबह 11:15 बजे छोड़ा गया था | इस इंटरसेप्टर सुपर सोनिक मिसाइल के प्रक्षेपण के बाद ही भारत अमेरिका, रूस और इजरायल देशों की सूची में खड़ा हो गया है जिनके पास केवल यह तकनीक है | दुनिया के इन्ही चारों देशों के पास ही केवल इस तरह का मजबूत बैलेस्टिक मिसाइल डिफेन्स टेक्नोलॉजी है |

हवा में ही किसी भी मिसाइल को उड़ा देगा –
डीआरडीओ के आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि मिसाइल सभी मानकों पर अनुमान के मुताबिक बिलकुल खरी उतरी है | मिसाइल का सफल परीक्षण देश और सुरक्षा के नजरिये से बहुत ही अहम् माना जा रहा है | इस मशीन की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे पूर्णतः हिन्दुस्तान में ही विकसित किया गया है | इस मिसाइल की दूसरी अन्य खूबी यह भी है कि यह मिसाइल दुश्मन की किसी भी मिसाइल को हवा में ही मार गिराएगी | जानकारों का मानना है कि दुश्मन पक्ष का कोई भी मिसाइल जैसे ही भारतीय आकाश में इंटर करेगा और रडार के टच में आएगा तुरंत ही उसे पृथ्वी-2 के जरिये नष्ट कर दिया जाएगा |

क्या-क्या खाशियत है मिसाइल में –
यह मिसाइल 2000 किमी तक बहुत आसानी से मार कर सकती है |
मिसाइल की लम्बाई 7.5 मीटर है और इसका वजन 1.2 टन है |
मिसाइल में एडवांस नेविगेशन सिस्टम लगाया गया है और इसे पूर्णतः भारत में ही विकसित किया गया है |
मिसाइल के पास खुद का अपना ही मोबाईल लांचर भी है |
इस मिसाइल में हाईटेक कंप्यूटर और इलेक्ट्रो-मेकैनिकल एक्टिवेटर भी लगे हुए है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here