भारतीय फिरकी के सामने अफ्रीकी बल्लेबाजों ने किया समर्पण, भारत के खिलाफ न्यूनतम स्कोर

0
269

नागपुर। रविचंद्रन अश्विन (32-5) के नेतृत्व में भारतीय स्पिनरों ने यहां के विदर्भ क्रिकेट संघ मैदान पर जारी तीसरे टेस्ट मैच दूसरे दिन गुरुवार को दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 79 रनों पर समेट दी। भारत को पहली पारी के आधार पर 136 रनों की बढ़त मिली है। भारत ने अपनी पहली पारी में 215 रन बनाए थे। भारत की ओर से अश्विन के अलावा रवींद्र जडेजा ने चार और अमित मिश्रा ने एक विकेट लिया।

दक्षिण अफ्रीका की ओर से ज्यां पॉल ड्यूमिनी ने सबसे अधिक 35 रन बनाए।

भारत के खिलाफ दक्षिण अफ्रीका का सबसे न्यूनतम स्कोर है यह –

यह भारत के खिलाफ दक्षिण अफ्रीका का न्यूनतम स्कोर है। 2006 में जोहांसबर्ग में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 84 रनों पर समेट दिया था।आखिरी विकेट के रूप में मोर्ने मॉर्केल 1 रन बनाकर अश्विन की गेंद पर आउट हुए। नौवें विकेट के रूप में जेपी ड्यूमिनी 35 रन बनाकर अमित मिश्रा की गेंद पर पगबाधा आउट हुए। भारत की तरफ से आर अश्विन ने 5, रविंद्र जडेजा ने 4 और अमित मिश्रा ने एक विकेट लिया।

आठवें विकेट के रूप में हार्मर 13 रन बनाकर अश्विन की गेंद पर बोल्ड हुए। इससे पहले सातवें विकेट के रूप में विलास 1 रन बनाकर जडेजा की गेंद पर बोल्ड हुए। छठे विकेट के रूप में डुप्लेसिस  रविंद्र जडेजा की गेंद पर 20 गेंदों में 10 रन बनाकर बोल्ड हुए।

पांचवें विकेट के रूप में एबी डिविलियर्स जडेजा की गेंद पर 0 रन बनाकर  और चौथे विकेट के रूप में हाशिम आमला 1 रन बनाकर अश्विन की गेंद पर रहाणे द्वारा कैच आउट हुए। आज के दिन पहले विकेट के रूप में डीन एल्गर अश्विन की ही गेंद पर 7 रन बनाकर बोल्ड हुए। इस समय जेपी ड्यूमिनी (25) और हार्मर (7) रन बनाकर क्रीज पर हैं। टेस्ट मैच के पहले दिन भारत ने अपनी पहली पारी के स्कोर 215 रनों के जवाब में दिन का खेल खत्म होने तक दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में 11 रनों पर 2 विकेट झटक कर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। मेहमान टीम ने स्टीयान वान जिल (0) और नाइटवॉचमैन इमरान ताहिर (4) का विकेट गंवाया था।

जिल का विकेट रविचंद्रन अश्विन के खाते में गया जबकि ताहिर को रवींद्र जडेजा ने आउट किया। मेहमान टीम पहली पारी की तुलना में 204 रन पीछे है। अब भारतीय स्पिनर मेहमान टीम को सस्ते में समेटते हुए अपनी टीम को बड़ी बढ़त दिलाने की महिम शुरू करेंगे। भारत इस मैच में तीन स्पिनरों के साथ खेल रहा है।

इससे पहले, केल एबॉट के स्थान पर अंतिम एकादश में जगह पाने वाले साइमन हार्मर (78-4) और डेल स्टेन की गैरमौजूदगी में स्ट्राइकर गेंदबाज की भूमिका अदा कर रहे मोर्ने मोर्कल (35-3) ने उम्दा गेंदबाजी करते हुए भारत की पहली पारी 215 रनों पर समेट दी। भारतीय टीम ने 78.2 ओवरों का सामना किया। भारत की ओर से मुरली विजय ने सबसे अधिक 40 रन बनाए जबकि रवींद्र जडेजा ने 34 तथा रिद्धिमान साहा ने 32 रन जोड़े।

दक्षिण अफ्रीका की ओर से कागिसू राबाडा, डीन एल्गर और इमरान ताहिर ने एक-एक सफलता हासिल की। भारत बेशक 215 रनों पर आउट हुआ, लेकिन यह इस सीरीज का अब तक सबसे बड़ा स्कोर है। भारत का पहला विकेट 50 के कुल योग पर गिरा। शिखर धवन 12 रन बनाकर डीन एल्गर क गेंद पर उन्हीं के हाथों लपके गए। इसके बाद विजय और चेतेश्वर पुजारा (21) ने दूसरे विकेट के लिए 19 रन जोड़े। विजय को मोर्ने मोर्कल ने एक बेहतरीन गेंद पर पगबाधा आउट किया। विजय ने 84 गेंदों का सामना कर 40 रन बनाए। उनकी पारी में तीन चौके और एक छक्का शामिल है।

पहले सत्र में भारत ने 78 रनों पर दो विकेट गंवाए थे। दूसरे सत्र में भारत ने सबसे पहले पुजारा को खोया। पुजारा ने 43 गेंदों का सामना कर दो चौके लगाए। उन्हें 94 के कुल योग पर साइमन हार्मर ने अपनी ही गेंद पर लपका। इसके बाद 115 के कुल योग पर अजिंक्य रहाणे (13) तथा 116 के कुल योग पर कप्तान विराट कोहली (22) आउट हुए। कोहली ने 55 गेदों पर दो चौके लगाए। रहाणे और कोहली को मोर्कल ने आउट किया। रोहित शर्मा का विकेट 125 के कुल योग पर गिरा। रोहित हार्मर की गेंद पर अब्राहम डिविलियर्स के हाथों लपके गए। रोहित ने दो रन बनाए।

रोहित की विदाई के बाद रिद्धिमान साहा और जडेजा ने सातवें विकेट के लिए 48 रन जोड़े। जडेजा 173 के कुल योग पर आउट हुए। जडेजा ने 54 गेंदों का सामना कर छह चौके लगाए। इसके बाद साहा ने अश्विन (15) के साथ 28 रनों की साझेदारी की। अश्विन और साहा ने नौ ओवर बल्लेबाजी की। साहा 201 के कुल योग पर आउट हुए जबकि अश्विन का विकेट 215 के कुल योग पर गिरा। साहा ने 106 गेंदों का सामना कर चार चौके लगाए

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

18 − 15 =