भारत के इस कदम से चीन की हालत ख़राब, चीन के दुश्मन देशों को भारत बेचेगा मिसाइल

0
22082

दिल्ली- भारत दुनिया का सबसे बड़ा मिसाइल और हथियारों को खरीदने वाला देश अब दुनिया की सबसे बेहतरीन मिसाइल बेचने वाला देश भी बन गया है | भारत दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल को चीन के सबसे बड़े दुश्मन वियतनाम को बेचने जा रहा है | भारत के इस कदम से निश्चित ही चीन की हालत बेहद ख़राब होने वाली है | वियतनाम के अलावा और भी तक़रीबन 15 देशों ने भारत ब्रह्मोस मिसाइल को खरीदने के लिए आग्रह किया है | इन 15 देशों में से ज्यादातर वे देश है जो चीन को अपना दुश्मन देश मानते है |

अब मिसाइल बेंच कर अरबों डालर कमाएगा भारत –
हथियारों के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा आयातक देश भारत अभी तक अरबों डालर रूपये के हथियार दुनिया के अलग-अलग देशों से खरीदता था लेकिन अब भारत ने पूरी कहानी को पलट कर रख दिया है | भारत अब केवल आयातक नहीं बल्कि हथियारों का निर्यातक देश भी बन गया है |

एनएसजी समूह और एमटीसीआर का सदस्य बनने से होने वाले है बड़े फायदें –
भारत की पीएम पिछले 6 दिनों से विदेश की यात्राओं पर थे | पीएम मोदी की इन विदेश यात्राओं का प्रमुख उद्देश्य था भारत को एनएसजी सदस्य देशों की समूह में लाकर खड़ा करना | अब अमेरिका, स्विटजरलैंड और मैक्सिकों के समर्थन के बाद यह एकदम साफ़ हो गया है कि भारत को हाल ही एनएसजी सदस्य देशों में शामिल किया जा सकता है |

इसके अलावा भारत मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था (एमटीसीआर) की सदस्यता पाने के भी बेहद करीब देश है | इन दोनों ही समूहों का सदस्य बनने के बाद भारत का दुनिया का सबसे बड़ा आयातक बनने के बाद हथियारों के आयातक के बाद एक निर्यातक के रूप में उभरेगा |

चीन का सबसे बड़ा विरोधी खरीदना चाहता है सबसे बड़ा घातक हथियार –
दक्षिण चीन सागर विवाद को लेकर चीन से नाराज वियतनाम ने 2011 में ही भारत को ब्रह्मोस मिसाइल खरीदने के लिए अनुरोध किया था। हवा, पानी और जमीन से मार कर सकने वाली मिसाइल पाने के लिए दक्षिण पूर्व एशिया के देश फिलीपींस और मलेशिया भी लालायित हैं | इससे दक्षिण चीन सागर क्षेत्र में सामरिक संतुलन बिगड़ सकता है और इससे चीन भड़क सकता है |

दुनिया की सबसे तेज मिसाइल है ब्रह्मोस –
ब्रह्मोस मिसाइल को दुनिया की सबसे तेज मिसाइल के रूप में जाना जाता है | इसकी रफ़्तार ध्वनि की रफ़्तार से भी तीन गुना अधिक तेज है | भारत से मिसाइल को खरीदने के लिए 15 देश लामबद्ध तरीके से खड़े है | 30 लाख डॉलर की कम कीमत में तैयार होती है ब्रह्मोस | द. अफ्रीका, चिली, ब्राजील और इंडोनेशिया भी खरीदार |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here