भारतीय कमांडोज ने पड़ोसी मुल्क की सीमा में घुसकर चलाया ऑपरेशन, आतंकियों को चुन-चुन कर मर गिराया

1
84334
indian army 4
Representative Image

नईदिल्ली – नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ़ नागालैंड (खापलांग) के कैम्प पर हमला करने के लिए एक बार फिर से भारतीय सेना कमांडोज ने अन्तराष्ट्रीय सीमा को पार कर म्यांमार में प्रवेश कर आतंकियों को धिज्जियाँ उड़ा दी है | देश के प्रतिष्ठित अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक भारतीय सेना कमांडोज ने आतंकियों के ऊपर यह हमला शुक्रवार रात में तक़रीबन साढ़े 3 बजे के आस पास किया था और यह ऑपरेशन तक़रीबन साढ़े 3 घंटे तक चला है |

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक भारतीय सेना के कमांडोज जिस वक्त इस ऑपरेशन अंजाम दे रहे थे उस समय आतंकियों का सफाया करते करते ये कमांडो अंतर्राष्ट्रीय सीमा को पार कर सैकड़ो मीटर तक म्यांमार बॉर्डर में घुस गए थे | सूत्रों से प्राप्त खबर के हवाले से बताया जा रहा है कि सेना की 12 पैरा रेजिमेंट के कमांडोज ने अन्तराष्ट्रीय सीमा पर पिलर नंबर 151 के पास म्यांमार की सीमा में प्रवेश किया था और आतंकियों का सफाया करके वे वापस भारतीय सीमा में सुरक्षित आ गए थे |

मणिपुर में 18 जवानों की हत्या का चुन-चुन कर बदला ले रही है सेना –
बता दें कि भारतीय सेना के कमांडोज ने अचानक से नागा आतंकियों के ऊपर हमला बोला था जिससे वे संभल नहीं पाए थे | आतंकी अपने हथियार छोड़कर अँधेरे का सहारा लेकर म्यांमार सीमा के भीतर भाग गए थे जिसके बाद कमांडोज ने उनका पीछा करते हुए म्यांमार सीमा को पार करके आतंकियों का सफाया किया था | दरअसल आपको बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब भारतीय सेना के कमांडोज ने अन्तराष्ट्रीय सीमा को पार कर आतंकियों को ठिकाने लगाया है इससे पहले भी कमांडोज ने ऐसा किया है |

गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यह रेड एनएससीएन पर दबाव बनाये रखने के लिए चलाये गए ऑपरेशन्स का हिस्सा है, और ऐसे ऑपरेशन्स आगे भी चलते रहेंगे |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

1 COMMENT

  1. यह गलत प्रचार है जो विदेशी समाचार पत्रो द्वारा भारतीय सैन्य बलो को बदनाम करने के लिए प्रसारित किया जा रहा है, आतंकी गोली खाकर पडौसी देश मे घुसकर मर जाते है तो हम क्या कर सकते है. घुस के मारते तो लाश भी उठा कर लाते, कृपया अनेधा अनुशरण न करे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here