अरब सागर के बीच में बन रहा है दुनिया का सबसे बड़ा और ऊँचा छत्रपति शिवा जी महराज का स्मारक, ‘स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी’ से भी दोगुनी होगी उंचाई

0
161961

shivaji_statue

महराष्ट्र की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी मराठाओ के शिरमौर, अद्वितीय मराठा योद्धा और मराठा साम्राज्य के संस्थापक छत्रपति शिवाजी महराज का अरब सागर के बीच में मुंबई तट के निकट एक दुनिया का सबसे ऊँचा स्मारक बना रही है | महराष्ट्र सरकार की 1900 करोंड रूपये के लागत से पूरी होने वाली इस परियोजना को केंद्र की मोदी सरकार ने भी अपनी स्वीकृति दे दी है |

कहा पर स्थित होगा शिवा जी महराज का यह स्मारक-
मराठा साम्राज्य के संस्थापक छत्रपति शिवा जी महराज का यह स्मारक अरब सागर में मुंबई तट पर स्थित होगा | मुंबई में प्रसिद्द नरीमन प्वाइंट् से इस स्मारक की दूरी 2.5 किमी और महाराष्ट्र के राजभवन से इसकी दूरी 1.5 किमी होगी | इस स्मारक को बनाने में कुल 1900 करोंड रूपये की लागत आएगी और यह स्मारक 40 एकड़ के विशाल मैदान में फैला हुआ होगा |

जेड प्लस सिक्युरिटी से लैस होगा स्मारक –
सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए अरब सागर में बन रहे शिवा जी महराज के इस स्मारक को जेड + सिक्युरिटी दी जायेगी | इस स्मारक की सिक्युरिटी के लिए नॅशनल सिक्युरिटी गार्ड (एनएसजी), मुंबई पुलिस और कोस्टल गार्ड की टीमों को तैनात किया जाएगा | यह सभी सुरक्षाबल स्मारक को चौबीसों घंटे और सातों दिन सिक्युरिटी प्रदान करेंगे |

रडार सिस्टम से भी लैस होगा स्मारक –
छत्रपति शिवा जी महराज के इस भव्य स्मारक को हवाई हमले से बचाने के लिए रडार सिस्टम से लैस किया जाएगा | रडार सिस्टम से लैस होने के बाद इस स्मारक को किसी भी प्रकार के हवाई हमले का ख़तरा नहीं होगा | साथ ही रडार सिस्टम लगने के बाद इस स्मारक को आकाश से देखा भी नहीं जा सकेगा |

‘स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी’ से भी दोगुनी होगी उंचाई –
इस स्मारक की भव्यता का इसी बात से अनुमान लगाया जा सकता है कि इस स्मारक की उंचाई दुनिया के सबसे ऊँचे माने जाने वाले ‘स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी’ से भी इसकी उंचाई दो गुनी होगी | यह स्मारक मुंबई के निकट एक आइलैंड पर 40 एकड़ के विशाल एरिया में फैला होगा | स्मारक को चारों तरफ किले नुमे बनावट से बनाया जाएगा जिससे समुद्र की लहरें इस समरक की दीवारों को न तोड़ सकें |

महराष्ट्र सरकार को अनुमान है कि इस स्मारक को देखने के लिए प्रतिदिन 10,000 से ज्यादा पर्यटक आ सकते है | इस स्मारक में छत्रपति शिवा जी महराज के जीवन से सम्बंधित घटनाओं को दर्शाने के लिए एक आर्ट गैलरी को भी बनाया जाएगा | इसके अलावा इस स्मारक के भीतर विश्व का सबसे बड़ा समुद्री मत्स्यालय भी बनाया जाएगा साथ ही स्मारक के भीतर ही 2 थियेटर्स भी बनाये जायेंगे साथ ही यहाँ 1 एक्जीबिशन सेंटर बनाने का भी कार्यक्रम है | स्मारक के भीतर शिवाजी महराज के जीवन पर आधारित ऐतिहासिक लेज़र शो का भी आयोजन किया जाएगा |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY