उफ़ा में होगी प्रधानमंत्री श्री मोदी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री श्री नवाज शरीफ की मुलाक़ात

0
234
The Prime Minister, Shri Narendra Modi meeting with the Prime Minister of Pakistan, Mr. Nawaz Sharif, in New Delhi on May 27, 2014.
file photo (photo credit-PIB)

 

भारत और पकिस्तान के प्रधानमंत्री की चर्चित मुलाक़ात की आधिकारिक तौर पर पुष्टि की जा चुकी हैं I

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता श्री विकास स्वरुप ने ट्वीट कर इस बात की आधिकारिक पुष्टि कर दी हैं I उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा हैं कि भारत के प्रधानमंत्री श्री मोदी और पकिस्तान के प्रधानमंत्री श्री नवाज शरीफ की मुलाकात कल ऊफा में 9:15 के मिनट पर होगी I

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने अपने ट्वीट में लिखा हैं कि “इस बात की पुष्टि की जाती हैं कि PM नरेंद्र मोदी और PM शरीफ के साथ कल (9:15 AM) शंघाई सहयोग संगठन सिखर सम्मलेन के इतर द्विपक्षीय मुलाकात करेंगे I

vikashswaroop twit

आपको ज्ञात हो कि इससे पहले दोनों नेताओं की मुलाक़ात पिछले साल नवम्बर में नेपाल के काठमांडू में हुए सार्क सम्मलेन के अवसर पर हुई थी लेकिन दोनों देशों में बढे हुए तनाव और पाकिस्तान के द्वारा लगातार सीमा पर किये जा रहे संघर्ष विराम के चलते दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने एक दूसरे के साथ किसी भी प्रकार की कोई वार्ता या फिर बैठक नहीं की थी I

आपको बता दें कि जिस समय श्री मोदी ने भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली थी उन्होंने अपने सभी पडोसी देशों को इसमें आमंत्रित किया था जिसमें पाक प्रधानमंत्री श्री नवाज शरीफ ने भी शिरकत की थी और तब या आशा की जा रही थी कि दोनों देशों के बीच हालातों में अब कुछ सुधार होने की सम्भावना हैं I लेकिन इस मीटिंग के बाद जिस तरह से सीमा पर पकिस्तान के द्वारा संघर्ष विराम को तोडा गया और पकिस्तान के उच्चाधिकारियों के द्वारा भारत के कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को मीटिंग में बुलाना दोनों देशों के बीच दूरियों का मुख्य कारण बन गया I

हाल ही में भारत के द्वारा चलाये गए म्यांमार में सर्जिकल ओपरेशन के बाद जिस तरह से दोनों देशों के नेताओं की तरफ से बयान बाजी का सिलसिला चला था दोनों देशों के राजनैतिक गलियारों में गर्मी काफी अधिक बढ़ गयी थी, ऐसे में आशा की जा रही हैं कि दोनों देशों के नेताओं के बीच होने वाली यह मुलाकात गर्मी के बाद मानसून का काम करेगी I

कल जब दोनों देशों के प्रमुख (श्री मोदी और नवाज शरीफ) आमने सामने होंगे तो आशा की जा रही हैं कि मुंबई हमले के मास्टर माइंड जकी-उर-रहमान लखवी और सीमा विवाद, आतंकवाद कश्मीर विवाद आदि मुद्दों पर जोर दिया जा सकता हैं I इतिहास इस बात की गवाही देता हैं कि भारत हमेशा से ही कश्मीर मुद्दे को बातचीत से और शांतिपूर्ण ढंग से निपटाने के प्रयास में हमेशा से रहा हैं अब देखना यह हैं कि दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों की मुलाकात के बाद क्या निर्णय निकलते हैं I

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

5 × one =