खाड़ी देशों में सामान की तरह से बेची-खरीदी जा रही हैं भारतीय महिलायें !

0
47410

sex-slaves
दिल्ली- खाड़ी देशों में हिन्दुस्तानी महिलाओं को किसी दूकान में रखे सामान की तरह से बेचा और ख़रीदा जा रहा है | इतना ही नहीं खाड़ी देशों में बहुत सी महिलायें ऐसी भी है जो जेलों में बंद है | बता दें कि अधिक पैसा कमाने की लालच में इन महिलाओं ने हिन्दुस्तान तो छोड़ दिया लेकिन खाड़ी देशों में जाने के बाद उन्हें केवल यातनाएं ही सहने के लिए मिल रही है इसके अलावा और कुछ भी नहीं | हालाँकि बहुत सी महिलाओं ने या तो अपने बदमिजाज मालिक की ज्यादती से तंग आकर या फिर इनके वीजा की अवधि समाप्त होने पर वापस आने की कोशिश की थी | इन सभी बातों का खुलासा आँध्रप्रदेश के एनआरआई मंत्री पी रघुनाथ रेड्डी ने केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को लिखे अपने पत्र में किया है |

भारतीय महिलाओं को खाड़ी देशों में वस्तु की तरह से बेचा जा रहा है –
आँध्रप्रदेश सरकार के एनआरआई मंत्री पी रघुनाथ रेड्डी ने सुषमा स्वराज को लिखे अपने पत्र में खाड़ी देशों में भारतीय महिलाओं की गंभीर स्थित का वर्णन करते हुए निवेदन किया है कि विदेश मंत्रालय ऐसी विकट परिस्थितियों से जूझ रही महिलाओं को वापस हिन्दुस्तान लाने की पहल करे | अपने पत्र में आँध्रप्रदेश सरकार के मंत्री ने कहा है कि, ‘ऐसी महिलाओं को जरूरी कागजात, वीजा आदि दिलाकर मुफ्त यात्रा की सेवा प्रदान की जाय जिससे वे बिना किसी अधिक तकलीफ के भारत वापस आ सकें |

खाड़ी देशों में तकरीबन 60 लाख प्रवासी भारतीय रह रहे है –
खाड़ी देशों में आंकड़ों की मानें तो तक़रीबन 60 लाख हिन्दुस्तानी रोजगार की वजह से अपना जीवन यापन कर रहे है और इनमें से महिलाओं की संख्या भी काफी है | रेड्डी ने अपने पत्र में बताया है कि बहुत सी महिलाओं को देश के भीतर काम करने वाले एजेंट यहाँ की अपेक्षा 3 गुना अधिक सैलरी का लालच देकर विदेशों में भेज देते है लेकिन वहां जाने के बाद उनके हालत बाद से बदतर हो जाते है | रेड्डी ने कहा है कि खाड़ी देशों में हिन्दुस्तानी महिलाओं की बोली लगाई जाती है | उन्हें इस तरह से ख़रीदा और बेचा जाता है मानो वो कोई इंशान नहीं बल्कि किसी दुकान में रखा कोई सामान हो |

रेड्डी ने अपने पत्र में इस बात का भी खुलासा किया है कि, सऊदी अरब में भारतीय महिलाओं को तकरीबन 4 लाख रूपये और बहराईन में भारतीय महिलाओं को 1 लाख से 2 लाख रूपये में बेंच दिया जाता है | उन्होंने यह भी कहा है कि बहुत सारी महिलाएं ऐसी भी है जो छोटे-छोटे अपराधों के मामलों में जेल की सजा काट रही है | ऐसे लोगों और महिलाओं के पास जुर्माने का पैसा भी देने के लिए नहीं है जिसका भुगतान करके वे भारत पुनः वापस आ सकें |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY