अब इस देश में ट्रांसजेंडर्स भी चलाएंगे रेडियो टैक्सी

0
263

मुंबई- देश के प्रमुख शहर और देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में संभवतः अगले साल से एक नई तरह की रेडियो कैब सर्विस शुरू होने वाली है। सबसे बड़ी मजे की और नई बात यह है कि इस रेडियो कैब को लेस्बियन गे बाइसेक्‍सुअल ट्रांसजेंडर (एलजीबीटी) समुदाय द्वारा शुरू किया जा रहा है और इसमें ड्राइवर के रूप में भी यही लोग (एलजीबीटी) नियुक्‍त किए गए हैं।

आपको बता दें कि यह देश की पहली रेडियो टैक्‍सी सर्विस है, जिसे एलजीबीटी समुदाय द्वारा संचालित किया जायेगा। ज्ञात हो कि पायलट प्रोजेक्‍ट के रूप में मुंबई में 20 जनवरी को पांच रेडियो कैब्‍स को हरी झंडी दिखाई गई है। बताते चलें कि विंग्‍स ट्रैवल्‍स तथा हमसफर ट्रस्‍ट इस टैक्‍सी सर्विस में बतौर ड्राइवर शामिल होने वाले एलजीबीटी को कार चलाने तथा यात्रियों से बात करने के तौर-तरीके सिखा रहा है।

सभी पांचों टैक्‍सी की ड्राइवर्स को फिलहाल लर्निंग लाइसेंस दिया गया है और प्रशिक्षण पूरा होने के बाद उन्‍हें ऑल इंडिया ड्राइवर्स लाइसेंस भी हासिल हो जाएगा।

विंग्‍स ट्रैवल एंड मैनेजमेंट के संस्‍थापक निदेशक अरुण खरत के मुताबिक, इस सेवा के जरिए एलजीबीटी समुदाय के सदस्‍य आत्‍मनिर्भर हो सकेंगे। कंपनी टैक्‍सी कारों का मालिकाना हक भी उन्‍हें चलाने वालों को देने की तैयारी कर रही है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल लीगल सर्विस अथॉरिटी (नाल्‍सा) तथा केंद्र सरकार के बीच के एक मुकदमे की सुनवाई के बाद ट्रांसजेंडर्स के समान संवैधानिक अधिकारों को सही माना था।

विंग्‍स ट्रैवल्‍स इस समय मुंबई सहित, पुणे, हैदराबाद, बेंगलुरू, चेन्‍नई, अहमदाबाद, नागपुर और चंडीगढ़ में कुछ 5500 रेडियो टैक्सि‍यों का संचालन कर रही है। इन तीनों शहरों में कंपनी 1500 एलजीबीटी ड्राइवर्स रखने का विचार कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here