आज दिल्ली में मिल सकते है भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिव, हो सकती है अहम् मुद्दों पर बातचीत

0
258

दिल्ली- नई दिल्ली में होने वाले हार्ट ऑफ़ एशिया सम्मेलन में भाग लेने के लिए पाकिस्तान के विदेश सचिव एजाज अहमद चौधरी और उनका प्रतिनिधि मंडल आज दिल्ली आएगा I बता दें कि यह सम्मेलन अफगानिस्तान में पूर्ण शांति बहाली और स्थिरता को बनाये रखने के लिए आयोजित किया जाता है I

पाकिस्तान के विदेश मंत्रलय के तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि, ‘पाकिस्तान ‘हार्ट ऑफ एशिया-इस्तांबुल प्रोसेस’ में सक्रिय भूमिका निभाता रहा है जिसे अफगानिस्तान, उसके पड़ोसियों ओर क्षेत्रीय देशों के बीच सुरक्षा, आर्थिक सहयोग और कनेक्टिविटी समेत क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा के मंच के तौर पर 2011 में स्थापित किया गया था ताकि अफगानिस्तान में स्थायी शांति एवं स्थायित्व को बढ़ावा मिले I यह भी जान लेना अत्यंत आवश्यक है कि पिछले वर्ष पाकिस्तान ने 9 दिसंबर 2015 को इस्लामबाद में पांचवें हार्ट ऑफ एशिया मंत्रिस्तरीय सम्मेलन की मेजबानी की थी I उस सम्मेलन में ‘सुरक्षा खतरों से निपटने एवं क्षेत्रीय संपर्क बढ़ाने के लिए सहयोग बढ़ाने पर जोर’ शीर्षक से इस्लामाबाद घोषणा पत्र को पारित किया गया था I

पाकिस्तान ने कहा, ‘और भी प्रतिनिधि मंडलों से द्विपक्षीय बात-चीत करेगा पाकिस्तान –
विदेश सचिव एजाज चौधरी के भारत दौरे की घोषणा करते हुए पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि, ‘पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल बैठक में हिस्सा ले रहे दूसरे शीर्ष प्रतिनिधिमंडलों के साथ भी द्विपक्षीय बैठकों में हिस्सा लेगा I’

शुरू हो सकती है ठप पड़ी बातचीत –
आशा जताई जा रही है कि इस विदेश सचिवों कि अहम् बैठक में पिछले काफी समय से ठप पड़ी शांति वार्ता को पुनः प्रारंभ करने पर बातचीत हो सकती है I पाकिस्तान शांति बहाली के लिए भारत से कह सकता है I बता दें कि भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिवों की बैठक इसी साल 15 जनवरी को दिल्ली में होनी थी लेकिन जनवरी की शुरुआत में ही पठानकोट एयर बेस पर आतंकी हमला होने के बाद बने हालातों की वजह से इस बैठक को टाल दिया गया था I बता दें कि दोनों देशों के विदेश सचिवों की इस मुलकात में शांति बहाली, पठानकोट हमले पर चर्चा और NIA के पाकिस्तान दौरे से सम्बंधित मुद्दों पर बातचीत संभव है I

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY