सीमा तनाव के बावजूद पाक के साथ बातचीत को आगे बढ़ाएगा भारत

0
222
The Prime Minister, Shri Narendra Modi meeting the Prime Minister of Pakistan, Mr. Nawaz Sharif, in Ufa, Russia on July 10, 2015.
The Prime Minister, Shri Narendra Modi meeting the Prime Minister of Pakistan, Mr. Nawaz Sharif, in Ufa, Russia on July 10, 2015.

सीमा पर तनाव के बावजूद पाकिस्तान के साथ सभी लंबित द्विपक्षीय मुद्दों का हल करने के लिए भारत बातचीत को आगे बढ़ाएगा क्योंकि उसका मानना है कि युद्ध कोई विकल्प नहीं है ।

शीर्ष सरकारी सूत्रों ने स्पष्ट करते हुए कहा कि सभी लंबित मसलों के समाधान के लिए बातचीत ही एकमात्र विकल्प है और दोनों देशों के प्रधानमंत्री उफा :रूस: में हुई हाल की बैठक में इस बारे में सहमत हुए थे ।

सूत्रों ने कहा, ‘‘बातचीत सही दिशा में बढ़ रही है । वार्ता ही एकमात्र रास्ता है क्योंकि युद्ध विकल्प नहीं है ।’’ विदेश सचिव एस जयशंकर ने हाल ही में कहा है कि भारत पाकिस्तान के साथ वार्ता के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन यदि बिना किसी उकसावे की गोलीबारी की गयी और सीमा पार आतंकवाद हुआ तो प्रभावशाली ढंग और पूरी ताकत से जवाब दिया जाएगा ।

उफा में तय किया गया था कि तीन स्तरों की बातचीत होगी । दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, सैन्य परिचालन महानिदेशक और सीमा रक्षक बलों के प्रमुखों के बीच । सीमा सुरक्षा बल और पाकिस्तानी रेंजर्स के महानिदेशकों की पहली बैठक नौ से 13 सितंबर के बीच होगी ।

सूत्रों ने कहा कि सीमा पर जो कुछ भी हो रहा है, उसके बावजूद तीन स्तरीय बातचीत आगे बढ़ेगी ।

सूत्रों के मुताबिक भारत पाकिस्तान की आंतरिक ‘डाइनेमिक्स’ को समझता है और इस तथ्य से भी परिचित है कि ऐसे तत्व हैं जो हमेशा शांति प्रक्रिया को ध्वस्त करने की कोशिश करते हैं ।

यह पूछने पर कि क्या अंडरवर्ल्ड माफिया डान दाउद इब्राहिम को वापस लाने की योजना है, सूत्रों ने कहा कि भारत पाकिस्तान के साथ हर बैठक में यह मुद्दा उठाता आया है और जब तक भारत का सर्वाधिक वांछित अपराधी दाउद हाथ नहीं लग जाता, आगे भी ऐसा करता रहेगा ।

Bhasha

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here