मानसिक रोग के निदान की पहल

0
91

चाँदमारी/वाराणसी(ब्यूरो)- गरीबो की स्वास्थ्य सेवाओं में एक कड़ी मानसिक रोगों के निदान को जोड़ने की पहल से गरीबो में ख़ुशी दिखी वहीँ लोगो ने इसे सराहनीय कदम बताया।

इस सम्बन्ध में प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ0 एस एस कन्नौजिया ने बात करने पर बताया कि अभी तक साधारण बीमारियो सहित छोटे जाँच कर इलाज किया जाता था। बड़ी बीमारियो के मामले आने पर उन्हे मण्डलीय अस्पताल भेजे जाते थे । लेकिन अब बड़ी बीमारियो में मानसिक बीमारी के उपचार ,सलाह व दवा भी मुहैया कराई जायेगी। उन्होने बताया की हर महीने के तीसरे गुरुवार को चिकित्सकों की टीम आएगी।

आशा व एएनएम को मानसिक बीमारी के लक्षण मनोचिकित्सक डॉ0 रविन्द्र कुमार कुशवाहा मनोवैज्ञानिक डॉ0 रविन्द्र कुमार कुशवाहा व काउंसलर इरा त्रिपाठी ने बताया।

बेबजह शक व शंका होना ,चिंता ,घबराहट ,उलझन ,आत्महत्या का प्रयास ,बिना कारण भी लगना ,नीद न आना,बिना कारण के भय लगना,मिलने -जुलने में दूरी रखना व उल्टी सीधी बाते करना यह प्रमुख लक्षण है।

ऐसे लक्षण मिलने वाले मरीजो की सूचि आशा एएनएम बनाकर रखे और पीएचसी पर दर्ज कराएंगी। मानसिक रोगों के उपचार की सुविधाये मिलने पर प्रधान अनिल सिंह ,गोपाल यादव ,हरिश्चंद्र ,राजेश सिंह ,लालमन यादव,दिलीप राम व विनोद पटेल ने सराहनीय प्रयास बताया।

रिपोर्ट-नागेन्द्र कुमार यादव 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here