प्रभारी मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी द्वारा जीएसटी कार्यशाला का उदघाटन

0
51

रायबरेली (ब्यूरो) जनपद में शुक्रवार को वाणिज्य कर विभाग द्वारा आयोजित जीएसटी कार्यशाला का उदघाटन प्रभारी मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी द्वारा किया गया। मंत्री ने कहा कि कहा कि 01 जुलाई से पूरे देश में एक साथ जीएसटी लागू किया जाना प्रधानमंत्री का एक ऐतिहासिक निर्णय है। इस प्रकार का निर्णय दृढ़ इच्छाशक्ति और मजबूत इरादों के बिना सम्भव नही है।

श्री नंदी ने कहा कि जीएसटी व्यवस्था में समस्त कार्य आॅन लाइन होने से सरकारी विभागों के बाबुओं और अधिकारियों का विवेकाधिकार स्वतः समाप्त हो जायेगा। जीएसटी में पंजीयन की सीमा रूपयें 5 लाख से बढाकर रूपये 20 लाख कर दी है। इसी एक कदम से हमारे प्रदेश के लगभग सवा तीन लाख बहुत छोटे स्तर के व्यापारी रजिस्टेªशन के दायरे से अपने आप बाहर हो जायेगें और तमाम झंझटों से मुक्त होकर अपनी रोजी रोटी कमा सकेगें। जीएसटी में मझौले स्तर के व्यापारियों का भी पूरा ध्यान रखा गया है। उनके लिए समाधान योजना की व्यवस्था की गयी है। जीएसटी में रूपये 75 लाख तक सलाना कारोबार करने वाले व्यापारी समाधान योजना का लाभ ले सकते है। समाधान योजना अपनाने वाले व्यापारियों को तीन महीने में केवल एक बार नक्शा जमा करने की व्यवस्था है। बिलों का विवरण न देकर कुल बिक्री अंकित करनी है। हमारे प्रदेश में रूपये 20 लाख से 75 लाख के बीच टर्न-ओवर के लगभग पौने तीन लाख व्यापारी है। समाधान योजना इन व्यापारियों के लिए अत्यन्त लाभकारी है। व्यवस्थाओं से प्रदेश के लगभग 06 लाख छोटे और मंझोले व्यपारी लाभानवित होगें। इसी व्यवस्था के अन्तर्गत पूरे देश में एक समान प्रणाली लागू होने से हमारे प्रदेश की आबादी को देखते हुए हमारे प्रदेश में औद्योगिकरण को भी बढावा मिलेगा। जिससे प्रदेश में रोजगार के नये अवसरों का भी सृजन होगा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY