इंसाफ के लिये दर दर भटक रहे बनारस के लोग – दिव्येन्दु राय

0
860

12312341_511138795716019_1926419966_n
बनारस जो कि एक धार्मिक नगरी के नाम से जाना जाता है। इस बनारस मे हिन्दु धर्म के श्रद्धालुओं के ऊपर अत्याचार कोई और नही अपितु प्रशासन खुद प्रदेश की समाजवादी पार्टी के सरकार के आदेश पर कर रहा है। गंगा जी मे मुर्ति प्रवाहित करने जा रहे साधु संतो एवं श्रद्धालुओं को सरेआम दौङा
दौङा कर पीटा गया जिसमे सैकङो श्रध्दालु अनेकों अस्पतालों मे जिन्दगी और मौत से जुझ रहे हैं। साधु संतो के ऊपर हुए इस लाठीचार्ज से स्थानीय
जनप्रिय विधायक अजय राय बहुत मर्माहत हुए एवं उन्होने इस घटना का विरोध करने हुए साधु सन्तों द्वारा निकाले गये प्रतिकार यात्रा में अपनी
सहभागिता सुनिश्चित की। अपने नेता अजय राय के इस प्रतिकार यात्रा से जुङने की वजह से अधिक मात्रा मे आम जनमानस भी इससे जुङ गई जिससे की प्रदेश सरकार की आंखों मे अजय राय किरकिरी की तरह से चुभ गये। प्रतिकार यात्रा मे कुछ अराजक तत्वों ने कुछ तोङ फोङ कर दी जिससे मौके की ताक मे बैठे प्रशासन ने अजय राय को बुरी तरह से पीटा जैसे की वह विधायक ना होकर एक अपराधी हों एवं उनके खिलाफ रासुका के तहत कार्यवाही की जो बेहद ही निन्दनीय है। अजय राय पर की गई इस कार्यवाही का विरोध केन्द्रीय मंत्री कलराज मिश्रा समेत देश के अनेक संभ्रान्त नागरिकों एवं संगठनो ने किया लेकिन प्रदेश सरकार को कोई फर्क नही पङा। आज बनारस की जनता अपने नेता की राह देख रही है जो बिना किसी गुनाह के जेल मे बन्द हैं। बनारस की जनता ने अपने बेटे को जेल से रिहा करने के लिये हर दरबार मे फरियाद लगाई लेकिन सब बेकार साबित हो रही है। सबका बस एक सवाल है कि आखिर कब मिलेगा बनारस को इंसाफ, आखिर कब होंगे बनारस के बेटे अजय रिहा।

दिव्येन्दु राय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here