उन्नाव में हुई अनोखी पहल, अंतिम यात्रा के लिए ख़ास तरह का वाहन किया गया तैयार

0
172


जीवन के बाद मौत एक कड़वा सच है।अंतिम यात्रा के दौरान हर कोई चाहता है कि उनका अपना आखिरी यात्रा में शान से जाये।उन्नाव में ऐसी ही अनोखी पहल की गयी है।यहाँ समाजसेवी अखिलेश अवस्थी ने अंतिम यात्रा के लिए बेशकीमती वाहन तैयार किया है जो शहर वासियों को निशुल्क उपलब्ध रहेगा।

किसी अपने की मौत के बाद हर इंसान चाहे वो गरीब हो या अमीर अंतिम यात्रा को यादगार बनाना चाहता है।हनुमंत जीव आश्रय सेवा संस्थान के संस्थापक अखिलेश अवस्थी ने ऐसे ही एक खूबसूरत वाहन को समाज को समर्पित किया है।जो वाहन शहर वासियों के लिए निःशुल्क उपलब्ध रहेगा।अखिलेश इससे पहले भी आवारा पशुओं के घायल होने पर उनकी चिकित्सा व्यवस्था की जिम्मेदारी निभा रहे है।

समाज सेवी अखिलेश अवस्थी ने कहा मेरी माँ का जब निधन हुआ तो हमारी इच्छा थी की हम अपनी माँ की अंतिम यात्रा बहुत खूबसूरत तरीके से सम्मानजनक तरीके से ले जाएँ, उसमें जो आभाव दिखा वो वाहन का था तमाम लोगों की इच्छाएँ होती हैं कि उनके बुजुर्ग उनके सम्मानित लोगों की अंतिम यात्रा बहुत खूबसूरत हो | शाश्वत सत्य है कि मृत्यु को स्वीकार करना ही पड़ता है इसलिए उस सत्य को ख़ूबसूरती से सजाने की जो कोशश है वो मनुष्य की होनी चाहिए हर व्यक्ति की इच्छा होती है कि अपने माता-पिता या बाबा-दादी की अंतिम यात्रा के लिए रथ बनाएगा, उसके लिए समाज के ही किसी आदमी को आना था और ईश्वर ने हमें चुना हमारे सारे साथियों को चुना सहयोगियों को चुना हम ईश्वर का आभार जताते हैं | इस वाहन पर तीन नंबर लिखे गए हैं जिन पर लोग हमें फोन करेंगे और यह गाड़ी उनके दरवाजे पहुंचेगी उनके सम्मानित जन को लेकर घाट तक जाएगी, हम लोगों ने गाड़ी को निःशुल्क चलाने की व्यवस्था की है | अभी हम लोग एक ही वाहन बना पाए हैं तो अभी पहला वाहन शहर भर के ही लिए रहेगा शहर से घाट तक की यात्रा वो घाट चाहे गंगाघाट हो, चाहे परियर हो चाहे बक्सर हो जहाँ भी ले जाना चाहे आदमी उसके लिए गाड़ी उपलब्ध है |

समाजसेवी रामतनेजा ने कहा निसंदेह है जो आया है उसको जाना है | ये बिलकुल सत्य है और सभी के यहाँ ये होना है तो ये जो कार्य हुआ है ये पुनीत कार्य है, इस तरह की और भी गाड़ियों की अतिशीघ्र व्यवस्था होगी पहले हम लोग ये ट्रायल के बेस पर लाये हैं, अगर हमें रेस्पोंस मिलता है और हमें सहयोग भी मिलता रहा तो हम अतिशीघ्र दो या तीन गाड़ियों की व्यवस्था करेंगे |

रिपोर्ट – धर्मेन्द्र शर्मा

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY