ग्राम सभा मगरायर में मनरेगा कार्यों की जांच को लेकर चर्चाओं का बाज़ार गर्म

0
53

बीघापुर/उन्नाव(ब्यूरो)- ग्राम सभा मगरायर में मनरेगा कार्यों की जांच में उजागर हुए घपले की दोबारा बैठी जांच समिति ने अभिलेखों को कब्जे में ले लिया है। वहीं षिकायतकर्ता ने दोबारा बैठी जांच समिति द्वारा घपले में क्लीन चिट देने की आषंका व्यक्त की है।

ग्राम पंचायत मगरायर में रमसगरा तालाब की खुदाई व षिवदीनखेड़ा नाले की सफाई के मनरेगा कराए गए कार्यों की जांच जिला उपायुक्त मनरेगा षेशमणि सिंह व डीआरडीए के सहायक अभियन्ता इनायत करीम द्वारा दो माह पूर्व की गई थी, जिसमें ढाई लाख रु0 घपले की पुश्टि हुई थी। घपले में आरोपी ग्राम प्रधान द्वारा निश्पक्ष जांच न होने की षिकायत पर सीडीओ ने पीडब्लूडी के अधिषाशी अभियन्ता ए0पी0 सिंह की अध्यक्षता में जिला उपायुक्त एनआरएलएम निर्मल कुमार द्विवेदी व परियोजना अधिकारी नेडा ष्यामधर दुबे की समिति बना दी।

गुरुवार को जांच समिति के अध्यक्ष ने पीडब्लूडी के सहायक अभियन्ता दीपेष कटियार व अवर अभियन्ता पी0के0 वर्मा को ब्लाक भेज कर मनरेगा कार्यों के भुगतान अभिलेख कब्जे में ले लिए हैं। षिकायतकर्ता संजीव मिश्र, बबलू पाण्डेय, सिद्ध किषोर कुषवाहा, कपिल तिवारी आदि ने जांच समिति द्वारा घपले में ग्राम प्रधान, पंचायत सेक्रेटरी व तकनीकि सहायक को बचाने की आषंका व्यक्त की है। पीडब्लूडी के अधिषाशी अभियन्ता एपी सिंह का कहना है कि जांच से सम्बन्धित अभिलेख उन्होंने मंगा लिए हैं, उनका अध्ययन करके निश्पक्ष जांच रिपोर्ट देंगे।

रिपोर्ट- मनोज सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY