सीमा पर देश की सुरक्षा करने वाला जवान भी हो रहा प्रशासन की लापरवाही का शिकार

0
119


इटावा ब्यूरो : देश की सरहद पर अपनी जान जोखिम में डाल कर देश की सुरक्षा करने वाला आर्मी जवान को दर–दर की ठोकर खाने को मिल रही है । पिछले चार दिनों से अधिकारियों के चक्कर काटने के बाद जब अधिकारी से मुलाक़ात हुयी तो अधिकारी ने उसे अपने चेम्बर से भगा दिया जब देश की सुरक्षा में लगे जवानों के साथ यह अधिकारी इस तरह से व्यवहार करेंगे । तब आम के साथ जनता से इनका रवैया कैसा होगा|

इटावा जिले के अशोक नगर मुहल्ले के रहने वाले अमित कुमार जो कि आर्मी में नायक के पद पर जम्मू कश्मीर में तैनात है । अमित अपने बेटे के नाम में गड़बड़ी हो जाने पर इटावा के अधिकारियों के पिछले तीन दिनों से चक्कर काट रहा है । आज जब यह जवान इटावा सिटी मजिस्ट्रेट जगतपाल से मिलने गया तोए सिटी मजिस्ट्रेट इस जवान को हड़काते हुए अपने चेंबर से भगा दिया । अधिकारी के इस रवैये से आर्मी जवान बड़ा मायूस हुआ । फिर इस जवान को जिले के डीएम शमीम अहमद के चेम्बर पर गया । लेकिन डीएम साहब तो नहीं मिलेए उनके चेम्बर में बैठे एसडीएम भरथना से मुलाक़ात हुयी । तो इस जवान ने अपनी समस्या बतायी लेकिन समस्या का हल नहीं निकला ।


इस जवान की कोई बड़ी समस्या नहीं थी । इस जवान की समस्या सिर्फ बेटे के नाम को बदलने के लिए किसी राजपत्रित अधिकारी के हस्ताक्षर कराना था । हद तो तब हो गयीए जब प्रभारी अधिकारी जनशिकायत से कहा गया की सिटी मजिस्ट्रेरट ने इस जवान को भगा दिया । तो उनका कहना था की इन्हें सही भगा दिया ।

समस्या लेकर आये आये आर्मी के जवान का कहना है की में आर्मी में तैनात हूंए और मेरे बेटे का आर्मी डॉक्यूमेंटेशन में नाम गलत हो गया था । जिस पर मैने सिटी मजिस्ट्रेरट के नाम से प्रार्थना पत्र दिया । उसमे में दो तीन दिन से चक्कर काट रहा हूं । पहले कई बार वो मुझसे बोले की यह काम हो नहीं सकता । आज बोले यह काम एसडीएम साहब करेंगे । जबकि मैने अपने बच्चे का नाम ईओ नगरपालिका के द्वारा सही करा लिया है । केवल इसमें राजपत्रित अधिकारी के साइन चाहिए । वो पूरी बात सुनते नहीं हैए कहते है जाइये.जाइये उनका बोलने का तरीका सही नहीं था । बोल रहे थे की भागिए यहाँ से एहम देश की सेवा करते है फिर भी हमारी यह सिविल में कोई सुनवाई नहीं होती है । मुझे छुट्टी से कल वापस भी जाना है । में पागलो की तरह पिछले चार दिनों से ऐसे ही घूम रहा हूं । इस समय में जम्मू में नगरोटा में नायक के पद पर तैनात हूं ।

डीएम चेंबर में बैठे प्रभारी अधिकारी जनशिकायत से पूंछा गया की आर्मी के जवान को सिटी मजिस्ट्रेट ने भगा दिया तो एसडीएम साहब ने कहा की सही भगा दिया हैद्य

रिपोर्ट – सुशील कुमार

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here