जनता संयम से काम ले प्रधानमंत्री खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं झरिया की आग पर : अभिषेक सिंह

0
39

पाथरडीह/झारखण्ड: लोको बाजार स्थित जमसं (कुंती गुट) के नेता अभिषेक सिंह ने अपने आवासीय कार्यालय में झरिया के भुमिगत आग की वास्तविक्ता की विस्तृत जानकारी अॉनलाईन से लेते हुए एक प्रेस वार्ता में कहा कि झरिया में भूमिगत आग की परिधि 1970 में 17.32 वर्ग किलमीटर थी । पर अब यह केवल 2.18 वर्ग किलोमीटर में ही सीमट कर रह गई है । परन्तु फिर भी आग का भय दिखाकर अधिकतम 25 से 30 साल के अंदर पूरी झरिया प्रक्षेत्र को खाली करा दिया जाएगा । इस आग को बुझाने के लिए बीसीसीएल ने 2014 में ग्लोबल टेंडर निकाला था जिसमें एक जर्मन कंपनी ने भाग लेकर यह दावा किया था कि वह जनता को विस्थापित किए बिना यह आग बुझा देगी। पर 9 महीने तक लगातार संपर्क करने के बावजूद भा.को.को.लि, पी.एम.ओ और कोल इंडिया ने इस कंपनी को कोई जवाब नहीं दिया और हारकर यह कंपनी वापिस लौट गई ।

अमेरिका में सन् 1997 में बीसीसीएल के महाप्रबंधक ने एक शोधपत्र में कहा था कि भूमिगत आग बुझाना संभव है पर अब बीसीसीएल कहती है कि दुनिया में इस आग को बुझाने के लिए कोई टैकनोलजी है ही नहीं । जनता को यह समझना होगा कि मटकुरिया कांड और झरिया की परिस्थिति में अंतर यह है कि इसबार खुद प्रधानमंत्री जी दिलचस्पी ले रहे हैं । जनता अगर सही तरीके से नहीं लड़ेंगी तो फिर यहां न जनता बचेगी और न नेतागण । जनता नजदीकी फायदे के चक्कर में दूर के नुकसान को नहीं भूले। मौके पर शंकर प्रसाद, अमन कुमार, अकबर अली, चंदन शर्मा, धीरज प्रसाद, संगम बारी, अभिषेक, मनीष, चरनजीत, अजमल, सतेन्द्र, गुलाम, नारायण, गुड्डु, साहबाज, बंटी, अमन आदि थे।

रिपोर्ट- अमित सिंह

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY