इसरो ने श्रीहरिकोटा से पांच ब्रिटिश सेटेलाईट कर दिए प्रक्षेपित

0
232
photo credit twit by isro
photo credit twit by isro

इसरो (इंडियन स्पेस रिसर्च सेंटर) ने आजतक का अपना सबसे बड़ा कमर्श‍ियल लॉन्च बहुत ही आसानी से कर दिखाया हैं, इसरों के वैज्ञानिकों ने पीएसएलवी-सी28 से पांच ब्रिटिश व्यावसायिक उपग्रहों का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण कर दिया हैं I

भारत के इस उपग्रह वाहन पीएसएलवी-सी28 ने शतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से शाम को 9:58 मिनट पर उड़ान भरी और उड़ान भरने के तक़रीबन 20 मिनट के अन्दर ही इसने पाँचों ब्रिटिश सेटेलाइट्स को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित कर दिया I

इसरो के अध्यक्ष श्री किरन कुमार का कहना हैं कि यह एक बहुत ही सफल मिशन रहा हैं, यह किसी भी समय पृथ्वी की सतह की निगरानी रख सकता हैं I इसका मुख्य उपयोग पृथ्वी पर संसाधनों और उसके पर्यावरण का सर्वेक्षण करना, शहरी अवसंरचना का प्रबंधन करना और आपदा प्रबंधन है.

जानकारी के मुताबिक अब तक भारत 40 कमर्शियल विदेशी सेटेलाईट लांच कर चुका हैं और पी.एस.एल.वी. के तहत यह 30वीं लांचिंग हैं I आज इसरो के इस सफलता पूर्वक कार्य के पहले पूर्व राष्ट्रपति और वैज्ञानिक श्री ए.पी.जे. अब्दुल कलाम ट्वीट कर इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई दी और उन्हें बेस्ट ऑफ़ लक कहा I

 

मिशन की आयु सात वर्ष रहने की संभावना है. पीएसएलवी की 30वीं उड़ान में तीन एक समान डीएमसी3 ऑप्टिकल पृथ्वी निगरानी उपग्रह थे जिनका निर्माण ब्रिटेन ने किया है. इसके साथ ही दो सहायक उपग्रह भी थे. तीनों डीएमसी3 उपग्रहों, जिनमें प्रत्येक का वजन 447 किलोग्राम था, को पीएसएलवी-एक्सएल के आधुनिक संस्करण का उपयोग करते हुए सौर-समकालिक कक्षा में स्थापित किया गया.

 

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

three × four =