इसरो ने रचा इतिहास, एक साथ 104 सेटेलाइट लांच कर दुनिया के सभी देशों को पीछे छोड़ा

0
208

isro
इसरो ने आज 104 सैटलाइट अंतरिक्ष में भेज कर एक नया इतिहास रचा है । दुनिया की सभी ताक़तें भारत के इस क़दम पर अपनी नज़रें लगा रखी थी । भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने आज विभिन्न देशों के कुल 104 सैटलायट लॉंच कर रूस के विश्व रिकार्ड (37 सैटलायट एक साथ ) को तोड़ दिया है । इन सभी सैटलायट को अंतरिक्ष में ले जाने वाले यान पी॰एस॰एल॰वी॰ ने आज सुबह 9:28 am को आंध्र प्रदेश के श्री हरिकोटा से उड़ान भरी । 44 m ऊँचे व 2.8 m व्यास वाले इस यान ने आज से पहले कुल 122 सैटलायट सरलतापूर्वक अंतरिक्ष में पहुँचाए हैं । यह यान आज से पहले 38 सफल प्रक्षेपण कर चुका है । इस प्रक्षेपण में भारत ने अपने सबसे ताक़तवर रॉकेट XL Variant का प्रयोग किया है ।

96 अमेरिकी , दो भारतीय तथा एक-एक इज़राइली, नीदरलैंड, कजाकिस्तान ,स्विट्ज़रलैंड व यू॰ए॰ई॰ के सैटलायट आज इसरो ने सफलतापूर्वक अन्तरिक्ष में भेज दिए हैं । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट करके सभी को बधाई दी । सम्पूर्ण विश्व भारत के इस क़दम से हतप्रभ है । विशेषज्ञों का कहना है कि भारत के इस क़दम ने इसे अंतरिक्ष बाज़ार का एक प्रमुख खिलाड़ी बना दिया है और भविष्य में इससे करोड़ों रुपए का व्यापार सम्भव है । इसरो के प्रोजेक्ट डिरेक्टर बी जयकुमार ने किसी न्यूज़ कम्पनी के इंटर्व्यू में कहा कि यह भारत के लिए एक महत्वपूर्ण पल है और आज हमने इतिहास रचा है ।

इस मिशन से सम्बंधित लगभग सभी जानकारियाँ निम्नलिखित हैं :

1 PSLV-C37 ने अपने 39वें मिशन पर 104 सैटलायट लगभग 18 min. में अंतरिक्ष की कक्षा में प्रक्षेपित कर दिए ।
2 १०५ में ९६ सैटलायट केवल और केवल यूएस के थे ।
3 लगभग १४०० किलो वजन के दो सैटलायट भारत के व अन्य सभी विदेशी थे ।
4 यह PSLV का सबसे भारी भरकम यान था जिसका वजन ३२० टन था और यह ४४ मी ऊँचा था ।
5 पीएम मोदी ने इसे भारत के सबसे गौरवान्वित क्षणों में से एक बताया और कहा कि सभी भारतियों को इसरो पर गर्व है ।
6 जून २०१५ के बाद यह भारत का दूसरा सफल प्रक्षेपण है , जून २०१५ में भारत ने २३ सैटलायट एक साथ छोड़े थे ।
7 भारत ने अपने इस क़दम से रूस के अब तक के विश्व रेकर्ड को तोड़ दिया है इससे पहले रूस ने 37 सैटलायट एक साथ छोड़ कर ये रेकर्ड बनाया था ।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here