रॉकेट इंजन के क्षेत्र में इसरो को मिली बड़ी सफलता, स्क्रैमजेट इंजन का सफल परिक्षण…

0
3400

isro
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र इसरो ने रविवार को एक बार फिर एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण सफलता प्राप्त की है, और इसरो की यह सफलता मील का पत्थर पार करने जैसी है | इसरो के वरिष्ठ वैज्ञानिक के अनुसार यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि है, और इसकी सफलता के बाद राकेट इंजन को प्रक्षेपण के समय ऑक्सीडाइजर को अपने साथ नहीं ले जाना पड़ेगा जिससे उसका भार लगभग आधा हो जायेगा |

इसरो ने अपने इस स्क्रैमजेट इंजन का सफल परीक्षण कर लिया है, वैज्ञानिकों के अनुसार यह इंजन वायुमंडल में मौजूद ऑक्सीजन को ईंधन को जलने के लिए प्रयोग करता है, जिसके कारण प्रक्षेपण के समय राकेट को ऑक्सीडाइजर ले जाने की ज़रुरत नहीं पड़ती |

इसरो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मिशन सफल रहा है, हमने दो स्क्रैमजेट इंजनों का परिक्षण किया है और 6 सेकंड के इस परिक्षण में दोनो ही इंजन सफल रहे, स्क्रिम जेट इंजन का केवल वायुमंडलीय चरण के दौरान ही होता है और इससे ईधन में ऑक्सीडाइजर की मात्रा को कम करके प्रक्षेपण में होने वाले खर्चे में कमी की जा सकती है |

इसके अलावां स्क्रैमजेट इंजन ऑक्सीजन को द्रवित कर सकता है और इसे राकेट या जहाज में भी संग्रहीत किया जा सकता है, पृथ्वी की सतह से 50 किलोमीटर ऊपर तक वायुमंडल में ऑक्सीजन उपलब्ध रहती है |

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here