आज रात 9:58 pm पर विश्व को अपनी अंतरिक्ष क्षमताओं का परिचय देगा भारत

0
406

आज श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र से अब तक के सबसे वजनी कमर्शियल पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (पीएसएलवी)- सी 28 को लॉन्च किया जाएगा। इसरो के अनुसार यह व्हीकल ब्रिटेन के पांच सैटेलाइट को लेकर आज रात 9 बजकर 58 मिनट पर उड़ान भरेगा।

isro

भारत ने सिर्फ 8 वर्षों में ही कमर्शियल सैटेलाइट लॉंन्चिंग में रूस, ईयू, चीन और जापान जैसे बड़े देशों को कड़ी टक्कर दी है, भारत ने अपना पहला कमर्शियल व्हीकल, श्रीहरिकोटा से ही 26 मई, 1997 को लॉन्च किया था, जिसका वजन 1198  kg. था।
धुव्रीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) का यह 1440 kg. का अब तक का सबसे वजनी कमर्शियल मिशन है।
यह पीएसएलवी की 30वीं और एक्सएल वर्जन की नौवीं उड़ान है।
अब तक इसरो का सबसे भारी व विदेशी कमर्शियल मिशन स्पॉट-7 मिशन था। फ्रांस के 712 किलोग्राम वजनी सैटेलाइट को 30 जून, 2014 को पीएसएलवी के जरिए ही लॉन्च किया गया था।
पीएसएलवी 44.4 मीटर लम्बा  और 320 kg. का चार चरणों वाला रॉकेट है।
इस बार पीएसएलवी ब्रिटेन के तीन डीएमसी- 3 उपग्रहों को 647 किलोमीटर दूर सन सिंक्रोनस ऑर्बिट में स्थापित करेगा।
प्रत्येक डीएमसी-3 उपग्रह का वजन 447 किलोग्राम है।
साथ ही 91 किलोग्राम के माइक्रो सैटेलाइट सीबीएनटी-1 तथा सात किलोग्राम के नैनो सैटेलाइट डीऑर्बिटसेल को भी पीएसएलवी सी-28 के जरिए अंतरिक्ष में भेजा गया है।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

2 × 5 =