नकलविहीन परीक्षा कराने को दृढ़ संकल्पित है प्रदेश सरकार- उप मुख्यमंत्री

0
34

वाराणसी (ब्यूरो) –  उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ0 दिनेश शर्मा ने कहा कि आगामी 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं मात्र 16 कार्यदिवसों में करवाएगी प्रदेश सरकार। उन्होंने कहा कि पहले की सरकार में परीक्षाये दो से ढाई महीने तक चलती रहती थी। साथ ही उन्होंने कदाचारमुक्त, नकलविहीन परीक्षा कराए जाने के अपने संकल्प को दोहराते हुए कहा कि इसके लिए अभी से तैयारियों शुरू कर दी गयी हैं। परीक्षा केंद्रों के निर्धारण में पूरी पारदर्शिता रखी जाएगी। परीक्षा केंद्रों के निर्धारण में डीआईओएस से लेकर सचिव मध्यमिक शिक्षा तक की जिम्मेदारी होगी।

उप मुख्यमंत्री डॉ0दिनेश शर्मा रविवार को महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के प्रशासनिक भवन सभागार में प्रेसवार्ता के रहे थे। उन्होंने कहा कि आगामी वर्ष में कुम्भ को देखते हुए परीक्षाओं की तिथि को कुम्भ से अलग रख गया है। नकलविहीन परीक्षा कराने पर विशेष जोर देते हुए उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पहले की सरकार में उत्तर प्रदेश की परीक्षा पूरी तरह कदाचार का अड्डा बन गयी थी, वर्तमान सरकार ने शिक्षा की सूचिता को बनाए रखने के सभी प्रयास और उपाय किए हैं। उन्होंने कहा कि परीक्षाओं में नकल पर नकेल कसने से परीक्षार्थियों की संख्या में अचानक बहुत कमी आ गयी, जिसका कारण है कि पहले जो प्रदेश से सटे दूसरे प्रदेशों सहित बांग्लादेश और श्रीलंका के छात्र भी नकल से पास होने की उम्मीद में दाखिले लेते थे, वे अब यहां नही आते।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले कोई भी किसी के बदले परीक्षा दे देता था, अब यह असंभव हो गया है। परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। परीक्षा केंद्रों में किसी अन्य के प्रवेश को पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया है। उन्होंने कहा कि छात्र आराम से परीक्षा दे सकें, इसके लिए हमने पत्रकार तक को परीक्षा केंद्र के अन्दर परीक्षा के दौरान जाने की अनुमति नहीं दी। उन्होंने कहा कि इस वर्ष सभी विश्वविद्यालयों के दीक्षांत समारोह हुए हैं, परीक्षाएं लगभग समय से हुई हैं यह एक बड़ी उपलब्धि है।

उन्होंने कहा कि उनका विभाग शिक्षा के क्षेत्र में सुधार की संभावनाओं पर विचार हेतु एक “विज़न डॉक्यूमेंट” भी तैयार करवा रहा है। रोजगारपरक शिक्षा कैसे हो इस दिशा में कार्य चल रहा। सरकार का लक्ष्य है कि पढ़ते-पढ़ते रोज़गार की भी शिक्षा दी जाए, इसके लिए प्रदेश के सभी विद्यालयों को धीरे धीरे आसपास के स्किल डेवलपमेंट सेंटर से जोड़ने की योजना है, जिसके लिए उनका विभाग शीघ्र ही एक एप जारी करनेवाला है। इस एप के माध्यम से स्किल डेवलपमेंट सेंटर के 15 के आसपास के विद्यालयों को उससे जोड़ा जा सकेगा।

रिपोर्ट – घनश्याम गुप्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here