यह कोई मजाक नहीं बल्कि इसका जादू आपको अचम्भित कर देगा….

0
686

मंदिर के बाहर लिखा हुआ एक खुबसुरत सच……

“अगर उपवास करके भगवान खुश होते,

तो इस दुनिया में बहुत दिनो तक खाली पेट
रहनेवाला भिखारी सबसे सुखी इन्सान होता..

उपवास अन्न का नही विचारों का करे….

इंसान खुद की नजर में सही होना चाहिए, दुनिया तो भगवान से भी दुखी है!

????????????????????????????


आज का विचार:

चिड़िया जब जीवित रहती है
तब वो चिंटी???? को खाती है

चिड़िया जब मर जाती है तब
चींटिया उसको खा जाती है।

इसलिए इस बात का ध्यान रखो की समय और स्तिथि कभी भी बदल सकते है.
????इसलिए कभी किसी का अपमान मत करो
????कभी किसी को कम मत आंको।
????तुम शक्तिशाली हो सकते हो पर समय तुमसे भी शक्तिशाली है।
????एक पेड़ से लाखो माचिस की तीलिया बनाई जा सकती है
???? पर एक माचिस की तिल्ली से लाखो पेड़ भी जल सकते है।


 

????कोई चाहे कितना भी महान क्यों ना हो जाए, पर कुदरत कभी भी किसी को महान  बनने का मौका नहीं देती।

????कंठ दिया कोयल को, तो रूप छीन लिया ।
????रूप दिया मोर को, तो ईच्छा छीन ली ।
????दी ईच्छा इन्सान को, तो संतोष छीन लिया ।
????दिया संतोष संत को, तो संसार छीन लिया ।
????दिया संसार चलाने देवी-देवताओं को, तो उनसे भी मोक्ष छीन लिया ।

☝मत करना कभी भी ग़ुरूर अपने आप पर ‘ऐ इंसान’
☝ भगवान ने तेरे और मेरे जैसे कितनो को मिट्टी से बना के, मिट्टी में मिला दिए ।
????????????????????????????????????


ये चन्द पंक्तियाँ
जिसने भी लिखी है
खूब लिखी है

एक पथ्थर सिर्फ एक बार मंदिर जाता है और भगवान बन जाता है ..
इंसान हर रोज़ मंदिर जाते है फिर भी पथ्थर ही रहते है ..!!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

twenty − 4 =