लालू जी ने मुझे खींचकर जबरदस्ती गले लगा लिया – अरविंद केजरीवाल

0
750

दिल्ली- लालूप्रसाद यादव से गले मिलने की वजह से आजकल सोशल मीडिया का सबसे हॉट टॉपिक बने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सफाई दी है I आपको बता दें कि हाल ही बिहार के मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह काफी भव्यता के साथ पटना के गाँधी मैदान में संपन्न हुआ I नितीश कुमार के इस शपथ ग्रहण समारोह में मुख्य तौर से अलग-अलग प्रदेशों से तमाम गैर NDA के नेताओं का जमावड़ा इक्कठा हुआ था I अरविंद केजरीवाल भी इस समारोह का हिस्सा थे I

इसी समारोह में आरजेडी प्रमुख लालूप्रसाद यादव से अरविंद केजरीवाल का गले मिलना और फिर हाथ उठाकर एक ही साथ जनता का अभिवादन करना जनता को ख़ासा परेशान कर रहा था जिसके चलते लालू का तो कुछ नहीं लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री की लोगों ने जम कर खिंचायी की I

वास्तव में हमेशा से ही अरविंद केजरीवाल लालूप्रसाद यादव के खिलाफ कुछ न कुछ कहते ही नजर आते थे I लालू यादव भी जब भी बोलते थे अरविंद के खिलाफ ही बोलते थे I लालू ने तो अरविंद केजरीवाल को नौटंकी बाज तक कह दिया था I और ऐसे में एक दूसरे की बुराई करने वाले यह दोनों नेता जब केवल मोदी के विरोध में सबकुछ भूलकर गले मिले तो लोगों के गुस्से का शिकार बन गए I

केजरीवाल ने दी सफाई-

लालूप्रसाद यादव से गले मिलते हुए अरविंद केजरीवाल
लालूप्रसाद यादव से गले मिलते हुए अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज आम आदमी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बोलते हुए कहा है कि लालूप्रसाद यादव ने जबरदस्ती ही मेरा हाथ पकड़कर खींच लिया था और बाद में मुझे अपने गले से लगा लिया था I

केजरीवाल ने कहा कि नितीश जी ने बिहार में अच्छा काम किया था जिसके चलते बिहार की जनता ने इस बार से उनको मौका दिया है I अपने बार में बोलते हुए केजरीवाल ने कहा है कि हमनें बीजेपी के विरूद्ध काम किया है और नितीश जी का समर्थन किया है I उन्होंने कहा कि जब मै शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचा तो लालू जी ने मेरा हाथ पकड़ कर खींच लिया और गले से लगा लिया और इतना ही नहीं जनता की तरफ मुंह करके मेरा हाथ भी उठा दिया I

यहाँ भी नहीं चूके आरोप लगाने से –

अरविंद केजरीवाल यहाँ भी अपनी आदत से बाज नहीं आये और उन्होंने कहा कि मुझे प्रोजक्ट किया जा रहा है जो कि गलत है I और उन्होंने कहा कि हम भ्रस्टाचार के खिलाफ तब भी थे और आज भी है और हमनें आज भी किसी भी प्रकार का कोई भी गठबंधन नहीं किया है I हम परिवारवाद की राजनीति का विरोध करते आये है और करते रहेंगे I दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा है कि लालूप्रसाद यादव के दोनों बेटों को मंत्री बनाया गया है मै इसके खिलाफ हूँ, मै इसका विरोध करता हूँ I

उन्होंने जनता के ऊपर प्रशनचिंह लगाते हुए कहा कि जब दूसरे नेता लालूप्रसाद यादव के गले लगते है तब लोग विरोध क्यों नहीं करते है I लेकिन हम से सवाल इसलिए पूछे जाते है क्योंकि हम बदलाव की राजनीति करते है I मुझे इस बात की ख़ुशी भी है I

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here