जज पुत्र हत्याकाण्ड के तीन अभियुक्तों को मिली उम्र कैद की सजा

0
80


समस्तीपुर (ब्यूरो)- रोसड़ा शहर में पांच वर्ष पूर्व हुए बहुचर्चित जज पुत्र हत्या मामले में गुरुवार को एडीजे कोर्ट ने अहम फैसला सुनाया है| उक्त मामले में तीन अभियुक्तों को अर्थ दंड सहित उम्र कैद की सजा सुनाई है | एडीजे वेद प्रकाश सिंह ने विगत 22 मई को सुनवाई के बाद दोषी करार दिए गये तीनों आरोपित शहर के साकेत कुमार झा उर्फ़ राजा झा, शंभू कुमार झा एवं उमा शंकर ठाकुर को दोषी करार देने बाद उक्त सजा सुनाई है|

आरोपित राजा झा को हत्या से संबंधित धारा 302 के तहत उम्र कैद एवं बीस हजार रूपये नहीं देने पर छह माह अतिरिक्त कैद एवं धारा 27 आर्म्स एक्ट में तीन साल का सश्रम कारावास एवं दस हजार रूपये अर्थ दंड की सजा सुनाई है| वहीं आरोपी उमा शंकर ठाकुर व शंभू कुमार झा को धारा 302 /34 के तहत आजीवन कारावास व दस-दस हजार रूपये अर्थ दंड नहीं देने पर चार माह का अतिरिक्त सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई है| फैसला सुनाते समय तीनों अभियुक्तों के परिजन समेत दर्जनों लोगों की भीड़ एडीजे के फैसले के इंतजार में कोर्ट परिसर में जमे थे| फैसला के समय अभियोजन पक्ष से एपीपी शिवशंकर प्रसाद यादव व बचाव पक्ष के अधिवक्ता परमेश्वर प्रसाद सिंह, उपेन्द्र ठाकुर एवं विष्णु कुमार महथा दलीलें दे रहे थे |

बता दें कि विगत 13 सितम्बर 2012 की देर संध्या 7:10 बजे रिक्शा से अपने ससुराल रोसड़ा के वार्ड नं. तीन में आए खगड़िया निवासी जज पुत्र मुकेश कुमार ठाकुर को अपराधियों ने ससुराल के निकट गोली मार कर हत्या कर दी थी| इस मामले में मृतक के ससुर शुभकांत झा ने रोसड़ा थाने में काण्ड संख्या 237/12 दर्ज कराई थी| उसके बाद पुलिस अनुसंधान में उक्त तीनों आरोपितों की संलिप्तता उजागर हुई थी| इस मामले में साठ गवाहों ने कोर्ट में अपनी गवाही दी थी|

रिपोर्ट- रंजीत कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here