जवाहरलाल नेहरु भारत का सबसे बड़ा कलंक था – पूर्व कांग्रेस विधायक अखिलेश सिंह

0
963

 

रायबरेली (ब्यूरो)- पूर्व सदर विधायक अखिलेश सिंह ने कहा कि चीन हमारा स्वाभाविक दुश्मन है मोदी के पहले की सरकारे यह सब जानते हुए भी ना जानने का नाटक कर रही थी फिर भी माफी मांगने का या समर्पण करने तक ही स्थित बनी रही लेकिन अब काफी परिवर्तन देखा जा रहा है |

उन्होंने कहा कि भारत का बच्चा-बच्चा जानता है कि चीन से हमें खतरा है फिर चीन से व्यापारिक रिश्ता क्यों हो रहा है | श्री सिंह ,ने कहा कि जिस तरह से मोदी जी आतंकवाद का सफाया करवा रहे है लेकिन भारत में सामानों की आपूर्ति करके चीन भरपूर धन कमा रहा है और धमकी भी दे रहा है |

उन्होंने कहा कि 1962 के दशक में तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने चीन के समक्ष घुटने टेक दिए थे, नेहरू की वजह से भारत पर चीन हावी हुआ क्योंकि नेहरू ने सैन्य शक्ति को कमजोर किया, उन्हें हथियार नहीं दिए | यही वजह रही 35000 चीनी सैनिक दो लाख भारतीय सैनिकों पर भारी पड़े |

पूर्व विधायक ने कहा कि सरदार पटेल ने चीन से सावधान रहने की चेतावनी दी थी लेकिन नेहरू ने उनकी चेतावनी की अनसुनी कर दिया और बिना हथियार के भारतीय सेना कमजोर पड़ी, कारण नेहरू ने कहा था कि हमे फौजो की जरूरत नही | तब से लेकर अब तक चीन बार बार भारत में दखल देता रहा | उसने ढेर सारी जमीन हथिया ली और तमाम सड़के बनवाली है इस पथराव पर चीन ने भारत की खिल्ली भी उड़ाई थी |

उन्होंने कहा था कि भारत के एनसीसी कैडेटों को सीमा पर भेज दिया और हथियार के रूप में उन्हें लाठी थमाई जबकि चीनी सैनिकों के पास अत्याधुनिक हथियार थे और यह सब नेहरु ने सरकार गिरने के भय से किया उन्होंने कहा कि नेहरू भारत का कलंक था | लेकिन आज हमारी सैन्य शक्ति मजबूत है | मोदी सरकार ने बहुत कुछ किया है, भारत को गौरवशाली अतीत की ओर ले जाया जा रहा है |

भारत शक्तिशाली देश बन रहा है यही कारण है कि कश्मीर के आतंकी गिन-गिन कर मारे जा रहे हैं | कश्मीर से आतंकियों का सफाया हो रहा है | श्री सिंह ने कहा कि चीन के सामानों का बहिष्कार करना होगा क्योंकि जब तक चीनी सामानों की भारत में खरीद फरोख्त नही बंद हो जाएगी तब तक चीन ऐसे ही करता रहेगा जब भारत चीनी सामान लेना बंद कर देगा तब चीन अपने आप टूट जाएगा|

रिपोर्ट- अनुज मौर्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here