झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही से बच्चे की मौत

0
67

गाजीपुर(ब्यूरो)- जिले में झोलाछाप डाक्टरों की भरमार हो गई है| चिकित्सा विभाग द्वारा इनके खिलाफ कोई कार्यवाई नहीं करने की वजह से इन डॉक्टरों की बढ़ोत्तरी होती चली जा रही है| इसी कड़ी में एक झोलाछाप चिकित्‍सक ने उपचार के दौरान एक बच्‍चे की जान ले ली।

शुक्रवार को करंडा थाना क्षेत्र के बक्‍शा गांव निवासी आरएन वर्मा (7) पुत्र राजेश वर्मा दोपहर में स्‍कूल से वापस घर आया। घर आने पर उसने परिजनों को बताया कि उसका घाव काफी दर्द कर रहा है। तब परिजनों ने उसे इलाज के लिए भटौली चट्टी पर स्थित डा. प्रभु प्रजापति के पास गया था। डा. प्रभु प्रजापति उपचार के दौरान बालक को इंजेक्‍शन लगा दिया। इंजेक्‍शन लगते ही बालक की हालत खराब होने लगी और वह मुंह से झाग फेकने लगा। परिजन काफी घबरा गये और आनन-फानन में उसे इलाज के लिए गाजीपुर सरकारी हास्पिटल ले आये। जहां पर चिकित्‍सकों ने बालक को मृत घोषित कर दिया।

बालक के मौत की खबर लगते ही परिजन रोने-पीटने लगे और कोतवाली में चिकित्‍सक के खिलाफ प्रार्थना पत्र दिया। पुलिस ने शव को कब्‍जे में ले लिया। खबर लिखे जाने तक पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा और करंडा एसओ मौके पर मौजूद थे। फ़िलहाल पुलिस जांच में जुटी है|

रिपोर्ट- डॉ. विजय प्रकाश यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY