जिलाधिकारी ने विकास खण्ड शिवगढ़ का किया औचक निरीक्षण


प्रतापगढ़ (ब्यूरो)- रानीगंज तहसील स्थित विकास खण्ड शिवगढ़ का जिलाधिकारी श्री शरद कुमार सिंह निरीक्षण करने पहुॅचे। जिलाधिकारी को देखते ही पूरे ब्लाक में हड़कम्प मच गया। जिलाधिकारी ने कर्मचारी उपस्थित पंजिका और मासिक प्रगति समीक्षा पंजिका को स्वयं मंगाकर निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कर्मचारी उपस्थित पंजिका में सत्येन्द्र कुमार मिश्र कनिष्ठ सहायक दिनांक 01 एवं 02 अगस्त, अब्दुल बोरिंग तकनीकी सहायक 01 एवं 02 अगस्त, इमरान खान तकनीकी सहायक 02 अगस्त, संजीव कुमार श्रीवास्तव तकनीकी सहायक 01 एवं 02 अगस्त, लाल प्रताप तकनीकी सहायक 01 एवं 02 अगस्त, विनय कुमार तकनीकी सहायक 01 एवं 02 अगस्त, अशोक कुमार तकनीकी सहायक 02 अगस्त, विनोद कुमार तकनीकी सहायक 01 एवं 02 अगस्त, राम अचल मौर्य तकनीकी सहायक 01 एवं 02 अगस्त तथा हिमांशु सिंह तकनीकी सहायक 02 अगस्त को अनुपस्थित पाये गये जिसे संज्ञान में लेते हुये जिलाधिकारी ने सभी का मानदेय रोकने हेतु निर्देश खण्ड विकास अधिकारी श्री विकास शुक्ला को दिया।

राजेश कुमार ए0पी0ओ0 से मनरेगा के विषय में जब जिलाधिकारी ने जानकारी ली तो वह सही-सही जानकारी नही दे पाये जिसके लिये राजेश कुमार का भी मानदेय रोकने का आदेश खण्ड विकास अधिकारी को दिया। सहायक विकास अधिकारी रामफेर सरोज से जिलाधिकारी ने शौचालय के विषय में जानकारी ली तो उन्होने बताया कि 3934 शौचालय की स्वीकृति की गई थी जिसमें से 2318 शौचालय का निर्माण हो चुका है शेष 1616 का निर्माण कार्य चल रहा है। खण्ड विकास अधिकारी यह भी निर्देश दिया गया कि उचित स्थान पर ब्लाक परिसर में फलदार और छायादार वृक्ष लगवाये जाये।

इसके उपरान्त सी0डी0पी0ओ0 शिवगढ़ श्री नवीन चन्द्र से आंगनबाड़ी केन्द्र पर बच्चो केे पंजीकरण उपस्थित के सम्बन्ध में जानकारी ली तो सी0डी0पी0ओ0 द्वारा सही जानकारी न दे पाने के कारण जिलाधिकारी ने श्री नवीन चन्द्र को कड़ी फटकार लगाते हुये निर्देश दिया कि आंगनबाड़ी केन्द्रो पर बच्चो की पंजीकरण संख्या बढ़ायी जाये साथ ही आशुलिपिक को निर्देशित किये कि जिला कार्यक्रम अधिकारी को भी पत्र द्वारा निर्देशित किया जाये कि प्रत्येक विकास खण्ड में भ्रमण (आने-जाने) का रजिस्टर बनवाये और उसमे निरीक्षण किये गये आंगनबाड़ी केन्द्रों को दिखाया जाये और यह भी दर्शाया जाय कि प्रतिदिन कितने आंगनबाड़ी केन्द्रों का निरीक्षण किया तथा यह देखा जाय कि बच्चो के पंजीयन में बढ़ोत्तरी हुई है कि नही, इसका सही-सही अनुपालन कराया जाये।

रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here