जिले के पास नहीं है पुलिस, दूसरे राज्यों के भरोसे हो रही है चुनाव की तैयारी

0
223

जिला पुलिस के पास उपलब्ध फोर्स इतना कम है कि उससे विधानसभा चुनाव की व्यवस्था कर पाना संभव नहीं होगा। ऐसे में बाहरी राज्यों से केंद्रीय पुलिस बल को यहां बुलाया जा रहा है। इसके अलावा कुछ राज्यों का पुलिस बल भी यहां पहुंचेगा। जिले में संवेदनशील मतदान केंद्रों पर सशस्त्र पुलिस बल तैनात होगा।

जिला पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इस समय जिले में चार राजपत्रित अधिकारी, 6 निरीक्षक, 34 उपनिरीक्षक, 73 हेड कांस्टेबल और 573 कांस्टेबल उपलब्ध हैं। यह सारी संख्या थानों, पुलिस लाइन में उपलब्ध जवानों की है। चुनाव के दिन थाना क्षेत्रों में गश्त के लिए अलग से टीम चाहिए। इसके अलावा हर मतदान केंद्र पर भी पुलिसकर्मी को तैनात किया जाएगा। जिला पुलिस की ओर से केंद्रीय सुरक्षा बलों की डिमांड का पत्र लगातार चुनाव आयोग को भेजा जा रहा है।

बताया गया कि कुछ फोर्स पंजाब से यहां पहुंचेगा। होमगार्ड के जवान हिमाचल प्रदेश से मांगे गए हैं। 15 फरवरी को होने वाले मतदान के लिए कुछ पोलिंग पार्टियों की रवानगी तीन दिन पहले हो जाएगी। इस कारण फोर्स को भी टीमों के साथ भेजा जाएगा। पुलिस अधीक्षक अजय जोशी का कहना है कि जिले को चुनाव के लिए जितनी फोर्स की जरूरत है वह समय पर यहां मिल जाएगी।

विधानसभा चुनाव में पीआरडी के 250 जवानों की ड्यूटी भी लगेगी। जिला युवा कल्याण अधिकारी दिनेश चंद्र पांडे ने बताया कि पीआरडी जवानों की सूची पुलिस को उपलब्ध करा दी गई है। सभी जवानों को ड्यूटी के बारे में अग्रिम सूचना भी दे दी गई है। उन्होंने कहा कि पोलिंग पार्टी के साथ पीआरडी के जवान भी तैनात रहेंगे।

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में बनने वाले स्ट्रांग रूम और उसमें रखी जाने वाली ईवीएम की सुरक्षा 15 फरवरी से अर्धसैनिक बलों के जवान करेंगे। जवानों को 24 घंटे ड्यूटी पर तैनात किया जाएगा। 11 मार्च को मतगणना तक स्ट्रांग रूम की कड़ी सुरक्षा की जाएगी। जिला निर्वाचन अधिकारी डा. रंजीत सिन्हा ने सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की।
रिपोर्ट- शादाब
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY