जिले को शौच मुक्त बनाने के लिए उपायुक्त ने टॉयलेट एक प्रेम कथा दिखाई

0
53

धनबाद (ब्यूरो)- खुले में शौच से मुक्ति (ओडीएफ) को बढ़ावा देने के लिए प्रशासन ने जिले में खास पहल की है। इसके तहत धनबाद उपायुक्त ए दोड्डे ने स्वच्छ भारत अभियान को समर्पित फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा फिल्म बिग बाजार के आईनॉक्स मल्टीप्लेक्स में सभी मुखिया और जल सहिया को प्रेरित करने के लिए शुक्रवार को दिखाई गई। धनबाद को ओडीएफ बनाने का लगातार प्रयास किया जा रहा है। एक लाख से अधिक शौचालय बनाए गए हैं।

अभियान को आगे बढ़ाने के लिए जिले के 256 मुखिया और हजारों जल सहिया को फिल्म दिखाई गई। बहुत से मुखिया-सहिया पहली बार मल्टीप्लैक्स में फिल्म देखने पहुंचे। इस मौके पर उपायुक्त भी पहुंचे। उन्होंने कहा कि खुले में शौच से आजादी सप्ताह के तहत जागरूकता लाने के लिए फिल्म दिखाई जा रही है। यह ग्रामीण इलाकों में स्वच्छता के महत्व जैसे गंभीर मुद्दे पर बनी फिल्म है। बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक को अभियान से जोड़ा जाना है। हर दिन अलग-अलग कार्यक्रम होने है।

धनबाद को ओडीएफ करने के लिए होने हैं ये कार्यक्रम-
धनबाद ओडीएफ मुक्त बनाने के लिए होंगे यह कार्यक्रम जैसे- लोक कला समूह और नुक्कड़ नाटक दल के माध्यम से जनजागरूकता अभियान चलाया जाएगा। ओडीएफ होने वाले पंचायतों में इसका आयोजना होना है। साथ ही संध्या चौपाल लगाई जाएगी। महिलाओं, किशोरी, बालिकाओं, आंगनबाड़ी के बालिकाओं के लिए आंगनबाड़ी स्तर पर खेलकूद व सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे।

विद्यालय स्तर पर खेल प्रतियोगिता एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। स्वच्छता के थीम पर आधारित खेल कूद व सांस्कृतिक होना है। ओडीएफ हो चुके गांवों में जिले के महिला मुखिया को भ्रमण कराया जाएगा। उन्हें अपने गांव को ओडीएफ करने का आग्रह किया जाएगा। सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएगा। गांव को ओडीएफ बनाने के लिए बेहतर काम करने वाले मुखिया व जल सहिया को सम्मानित किया जाएगा।

मौके पर जिला प्रशासन के उपायुक्त समेत जिले के वरीय अधिकारी पदाधिकारी मौजूद थे। फिल्म के माध्यम से लोगों को यह संदेश दिया जा रहा है कि शौचालय प्रत्येक घर की जरूरत है जहां सोच वही शौचालय की जरूरत समय की मांग है। वही फिल्म देख कर निकले मुखिया और जल सहियाओं ने कहा कि इस फिल्म के माध्यम से उन्हें यह संदेश मिला है कि शौचालय बनवाना ही नहीं बल्कि इसका इस्तेमाल करना भी जरूरी है।

रिपोर्ट- गणेश रावत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here