नौकरी जीवन का एक हिस्सा होता है न कि जीवन- पुलिस अधीक्षक

0
114

चन्दौली(ब्यूरो)- सेवानिवृत्त हो रहे जनपद के 5 पुलिस कर्मी क्रमश:-

1. श्री शशिकान्त श्रीवास्तव (मु.आ.प्रो. नागरिक पुलिस)

2. श्री भरत सिंह (मु.आ.प्रो.)

3.श्री रामजी (मु.आ. सशस्त्र पुलिस)

4. श्री राम बदन राम(मुख्य आरक्षी स.पु.)

5. श्री रामविलास राम (मु.आ. स.पु.)

को श्रीमान पुलिस अधीक्षक -चन्दौली श्रीमती दीपिका तिवारी ने अंगवस्त्रम तथा श्रीमदभागवत गीता भेट के रुप में प्रदान किया। इससे पहले कप्तान द्वारा उक्त कर्मियों को माला पहनाकर स्वागत के साथ ही विभाग से सम्बन्धित किसी प्रकार के कागजात/कार्य पूर्ण ने होने की जानकारी ली गई| जिस पर सबका कार्य पूर्ण होना पाया गया।

इस मौके पर पुलिस अधीक्षक नें कहा कि नौकरी जीवन का एक हिस्सा होता है न की जीवन। व्यक्ति को अपने जीवन के कर्तव्य मूल्यों को ही सर्वोपरि करके जीवन की राह पर आगें बढना चाहिये। पुलिस की नौकरी में व्यक्ति अपने व्यक्तिगत समाज एवं सम्बन्धों से लगभग कट सा जाता है क्योकि उसे इनमें सम्मिलित/हिस्सा होने का वक्त ही नहीं मिल पाता है। अब आप सब अपना अधिक से अधिक समय अपने परिवार व समाज/सम्बन्धियों के बीच ही व्यतीत करेगें। मैं आप सबके सुखी एवं निरोगी जीवन की कामना के साथ ही शुभकामनायें भी देती हूँ और आप सबके द्वारा पुलिस विभाग में कियें गये कार्यों आदि के लिए मै आप सबकों धन्यवाद देती हूँ।

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here