योगी सरकार में बेखौफ चोरों के साथ पुलिस कर रही खेल फजीॅ गुड वकॅ के लिए निर्दोषों को भेजा जेल

0
116


हसनगंज/उन्नाव (ब्यूरो)- जहाँ जुआरियों की लड़ाई में रसूलाबाद चौकी पुलिस ने दो युवकों को पकड़ कर हसनगंज पुलिस को सौंप कर बीते माह हुई आधा दर्जन चोरियों में पुलिस ने डेढ़ सौ ग्राम चांदी दिखाकर निर्दोष चाचा भतीजे को अपराधी बनाकर जेल भेजकर हसनगंज पुलिस ने फजीॅ गुडवकॅ कर अपनी पीठ थपथपा कर कप्तान के सामने पेश किया।

मालूम हो कि हसनगंज कोतवाली क्षेत्र में बीते माह 17 अक्टूबर की रात लखनऊ बांगरम ऊ रोड पर स्थित अकबर पुर गाँव में एक साथ आधा दर्जन घरों में चोरों ने निशाना बनाकर लाखों की नगदी सहित क ई लाख के सोने चांदी के जेवरात पार कर दिए थे। जिस पर पीड़ितों ने पुलिस को तहरीर देकर अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई थी।जिस पर हसनगंज पुलिस ने बीती रात में कोतवाली क्षेत्र के निंदेमऊ निवासी धर्मेन्द्र लोधी उफॅ भूरा पुत्र खिलाड़ी व सगा भतीजा सोनू लोधी पुत्र कल्लू लोधी को गिरफ्तार कर फजीॅ तरीके से दो जोड़ी चांदी के पायल व बीस बिछिया वजन डेढ़ सौ ग्राम दिखाकर जेल भेज दिया। छह महीने में कोतवाली क्षेत्र में हुई दो दजॅन से अधिक चोरियों में हसनगंज पुलिस ने सुनियोजित ढंग से 17 अक्टूबर को अकबर पुर गांव में आधा दर्जन चोरियों का पुलिस ने फजीॅ खुलासा कर पुलिस कप्तान के सामने पेश करने की विज्ञप्ति जारी कर दिया। दो दजॅन से अधिक चोरियों में पुलिस ने फजीॅ खुलासा कर निर्दोषों को जेल भेज कर अपनी पीठ थपथपाई।

योगी सरकार में कुछ इस तरह कोतवाली हसनगंज पुलिस अपराधियों को संरक्षण देकर निर्दोषों को अपराधी बनाकर कानून का राज स्थापित करने में जुट गई है।अभियुक्तों के परिजनों की मानें तो दोनों चाचा भतीजे धर्मेंद्र लोध व सोनू लोध अपने घर में लडाई झगड़ा करके कुछ पैसा उठाकर नगर पंचायत रसूलाबाद में किराये का मकान लेकर पत्नी के साथ मे रह रहे थे। तभी तीन दिन पहले टाउन में जुआ खेलने में आपस में गाली-गलौज हुआ था। जिस पर रसूलाबाद चौकी पुलिस ने चाचा भतीजे दोनों को उठाकर हिरासत में ले लिया था। लेकिन रसूलाबाद चौकी पुलिस ने सुनियोजित ढंग से बीती रात में हसनगंज पुलिस को दे दिया। जिस पर हसनगंज पुलिस ने आधा दर्जन दरोगा व सिपाहियों की टीम के द्वारा चाचा भतीजे दोनों की फजीॅ गिरफ्तारी दिखाकर सोमवार को मीडिया को एस पी साहब के यहाँ खुलासे की पीसी बताकर आनन-फानन जेल भेज दिया।

खास बात यह है कि कि अकबरपुर गांव की चोरी में धनीराम के घर से 10 हजार रुपये की नगदी सहित तीस हजार के जेवरात, सगे भाई श्रीराम के घर से 8 हजार नगद व 50 हजार रुपये के सोने चांदी के चोरों ने पार कर दिया था। इसी तरह बुधाना, हीरा, मिश्रीलाल, पुर ई सहित छह घरों में चोरों ने लाखों की नगदी सहित क ई लाख के सोने चांदी के जेवरात पार कर दिए थे। लेकिन बीती रात में नींदेमऊ से चाचा भतीजे को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके पास से 2 जोड़ी चांदी के पायल व 20 बिछिया चांदी की बरामद कर धारा 380 / 411 आईपीसी में निर्दोषों को अपराधी बनाकर जेल भेज दिया। एफ आई आर दर्ज कर दोनों अभियुक्तों को जेल भेज कर गुड वर्क दिखाया हालांकि सूत्रों की मानें तो दोनों युवकों को गांव में आपसी लड़ाई झगड़े में हसनगंज कोतवाली उठा कर लाई थी लेकिन मारपीट का मामला भूल कर लगातार हो रही फजीॅ चोरियों की घटनाओं के खुलासे से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। कोतवाली प्रभारी धर्मवीर सिंह ने इस संबंध में पूछे जाने पर बताया कि बीते माह में कोतवाली क्षेत्र के अकबरपुर में हुई चोरियों में दोनों चाचा भतीजे ने चोरी कबूल किया है और चांदी के जेवरात बरामद हुए हैं। उधर इस संबंध में रसूलाबाद चौकी प्रभारी कुमार दुबे से फोन पर पूछने पर दोनों युवकों को पकड़ने से साफ इंकार किया है।

रिपोर्ट – राजेंद्र आजाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here