जोक्स : सीरिज में

0
608

भारत रत्न के असली हक़दार राजस्तान के वो
लड़के है
जो मिराज को जबड़ो में दबाकर ऐसे पानी
पीते है.जिससे मिराज का स्वाद भी ना
बिगड़े
और प्यास भी बूझ जाए. ????????????????????????


आज के जमाने में सत्संग उसी संत का बढ़िया रहता है जिसके पंडाल में गर्म पोहा-जलेबी और अदरक वाली चाय मिले। वरना ज्ञान तो अब  वॉट्सएप पर भी बंटता है।


????????????
जिस पुरुष ने आज के समय में बीवी, नौकरी, कारोबार और स्मार्टफोन के बीच में सामंजस्य बैठा लिया हो, वह पुरुष नहीं महापुरुष कहलाता है!


????????????
आज सबसे बड़ी कुर्बानी वह होती है, जब हम अपना फोन चार्जिंग से निकाल कर किसी और का फोन लगा दें!


????????????
“दुनिया में हर चीज मिल जाती है,…. केवल अपनी गलती नहीं मिलती”…!!


????????????
मुस्कुराते रहो तो दुनिया आपके कदमों में होगी वरना आंसुओं को तो आंखें भी जगह नहीं देतीं।।


????????????
आसमान को छूने के लिऐ रॉकेट को भी बोतल कि जरूरत पडती है।………..
तो फिर इंसान क्या चीज है।


????????????
आप कितने ही अच्छे काम कर लें, लेकिन लोग उसे ही याद करते हैं, जो उधार लेकर मरा हो।


????????????
यदि पेड़ों से wi-fi के सिगनल मिलते.. तो हम खूब पेड़ लगाते। अफसोस कि वे हमे आक्सीजन देते है…


????????????
आजकल माता-पिता को बस दो ही चिंताएं हैं। इंटरनेट पर उनका बेटा क्या डाउनलोड कर रहा है और बेटी क्या अपलोड कर रही है i


????????????
हर एक इंसान हवा में उड़ता फिरता है, फिर ना जाने जमीन पर इतनी भीड़ क्यों है i


????????????
जंगल में चरने गया बैल और दोस्तों के साथ पार्टी में बैठा पुरुष जल्दी वापस नहीं आते i


????????????
जब आप किसी चीज को पूरी शिद्दत से पाने की ख्वाहिश या कोशिश
करते हैं तो वह चीज उसी शिद्दत से कुछ ज्यादा ही एटीट्यूड दिखाने लगती है।
????????????


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here