पत्रकारिता के असल मापदण्ड़ों पर चलने की आवश्यकता – धर्मेन्द्र सिंह

0
266


वाराणसी (ब्यूरो) पत्रकार शासन व जनता के बीच के सेतु हैं, समाज की दबी कुचली आवाजो को शासन व प्रशासन के नजरो में प्रमुखता के साथ लाना पत्रकारों की नैतिक जिम्मेदारी बनती है,पत्रकारो को स्वतंत्र व निष्पक्ष होकर दिल व दिभाग की गहराईयों से निकलने वाली आवाजो को कभी नजरअंदाज नही करनी चाहिए।

उक्त बातें बुद्धवार को वाराणसी मंडल के अखण्ड़ भारत न्यूज के पत्रकारों की एक बैठक के दौरान अखण्ड़ भारत न्यूज के डायरेक्टर धर्मेन्द्र सिंह ने वाराणसी स्थित पटेल धर्मशाला तेलियाबाग में बतौर मुख्य अतिथि कहीं।उन्होंने कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य बराबर यही रहा है कि पत्रकारिता के गिरते साख को बचाया जाये तमाम कठिनाईयों के बीच आज बहुत से पत्रकार “मिशन पत्रकारिता” के अपने मार्ग से भटक चुके है जिसका बुरा असर समाज पर पड़ता दिख रहा है, आने वाला समय सोशल मीडिया का है।


उन्होंने पत्रकारो को सम्बोधित करते हुए कहा कि पत्रकारो को चौथा स्तम्भ व समाज का दर्पण भी कहा जाता है जिसकी गरिमा का ध्यान रखना प्रत्येक पत्रकार का कर्तव्य बनता है। बैठक शुरु होने से पहले मुख्य अतिथि के आगमन पर अखण्ड़ भारत न्यूज के पत्रकारों ने वाराणसी मण्डल की ओर से उन्हें फूलो का गुलदस्ता भेंट कर तथा माल्यार्पण कर उनका स्वागत बडे ही गर्मजोशी के साथ किया, लगभग पांच घण्टे चली इस बैठक में पत्रकारों की हर समस्याओं का समाधान व पत्रकारिता के हर क्षेत्र के अनुभव एक दूसरे से प्राप्त हुए। बैठक के दौरान अखण्ड़ भारत से जुड़े पत्रकार व साहित्यकार मनोज द्विवेदी “मधुर” ने अपनी कुछ रचनाओं के माध्यम से समाज व पत्रकारिता को कुछ नूतन संदेश दिये। इस अवसर पर महाप्रबन्धक उ०प्र०दीपनारायण यादव,वाराणसी मण्ड़ल प्रभारी रविन्द्रनाथ सिंह, वरिष्ठ पत्रकार व सम्पादक बी०पी०यादव, डा०विजय प्रकाश, उमेश दुबे, नागेन्द्र कुमार यादव, त्रिपुरारी यादव, सर्वेश कुमार, ठाकुर मिथिलेश, दिलीप मौर्य, कृष्ण कुमार पाण्ड़ेय, प्रवीण चौहान सहित कई लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here