पत्रकार एस एस वर्मा का निधन, पत्रकारों में शोक की लहर

0
64


सुल्तानपुर (ब्यूरो) जिले के वरिष्ठ पत्रकार श्याम सुंदर वर्मा (एस एस वर्मा) का आज सुबह इलाज के दौरान जिला अस्पताल में निधन हो गया। वे करीब 80 वर्ष के थे। जिनका अंतिम संस्कार आज सायं हथियानाला पर हुआ। मुखागन्नि उनके बड़े पुत्र अशोक वर्मा ने दिया। श्री वर्मा के निधन की सूचना पाकर जिले के पत्रकारों और प्रशासनिक क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गयी। श्रमजीवी पत्रकार यूनियन सुल्तानपुर ने आपात बैठक कर श्री वर्मा के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की एक बैठक जिलाध्यक्ष सत्य प्रकाश गुप्ता की अध्यक्षता में सब्जी मंडी स्थित यूनाइटेड भारत के कार्यालय पर हुई। जिसमें संगठन के वरिष्ठ सदस्य विजय विद्रोही ने बताया कि श्री वर्मा जी करीब तीन दशक से विभिन्न छोटे बड़े अखबारों से जुड़े रहे। उन्हें लंबे समय से राज्य सूचना विभाग से मान्यता भी रही। प्रशासनिक क्षेत्र में वह काफी सक्रियता से पत्रकारिता की। संगठन के उपाध्यक्ष अशोक मिश्र ने कहा कि वर्मा जी बड़े ही मधुर मिलनसार व्यक्तित्व थे। वह अपने क्षेत्र के अनुजों का भी बड़ो जैसा सम्मान देते थे। अध्यक्ष सत्य प्रकाश गुप्ता ने कहा कि वर्मा जी के एक ऐसे पत्रकार रहे जो अखबार प्रबंधन से वार्ता कर अपनी शर्तों पर काम करते थे। यही कारण था कि अखबार कोई हो मान्यता तुरंत होती थी। उन्होंने अपने कार्य और कुशल व्यवहार से प्रशासनिक क्षेत्र में अच्छी पकड़ बना रखी थी। पत्रकारों में वह गैर सरकारी सी डी ओ कहे जाते थे। उनकी कमी पत्रकारों में ही नही अधिकारियों में भी खटकती रहेगी। जिसकी पूर्ति शायद ही हो सकें।

संगठन के वरिष्ठ सदस्य सतीश तिवारी, उपाध्यक्ष दर्शन साहू, विक्रम वृजेन्द्र सिंह, महामंत्री अब्दुल सत्तार, कोषाध्यक्ष दया शंकर गुप्ता, राकेश शर्मा, हरिकेश तिवारी, दीपक मिश्रा, गुलाम शब्बीर, संतोष यादव, ब्रजेश श्रीवास्तव, रवि श्रीवास्तव, सुरेश मौर्य, शैलेश, राम सागर तिवारी, नमो नारायण चौबे, नितिन श्रीवास्तव, राजू श्रीवास्तव, राम नारायण चौरसिया, के के तिवारी, शिवकरन द्विवेदी, जितेंद्र श्रीवास्तव आदि ने अपने सदस्य स्व. वर्मा के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

रिपोर्ट – संतोष यादव

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY