प्रशासनिक उत्पीडन और छोटे बड़े के भेद से उबरने के लिये पत्रकार हुए लामबंद, बनाया गया संयुक्त पत्रकार एसोसिएशन

0
83

बलिया(ब्यूरो)- वर्षो से छोटे बड़े, शहरी ग्रामीण, इलेक्ट्रॉनिक्स प्रिंट, संवाददाता फोटोग्राफर आदि के नस्ली दंश को झेलने वाले बलिया के पत्रकारों का धैर्य शुक्रवार 31 मार्च को टूटकर एक संगठन के रूप में बदल गया। बापू भवन टाउन हॉल में हुई एक हंगामेदार बैठक में उपस्थित सभी सदस्यों ने हाथ उठाकर शपथ ली कि आज से बलिया जनपद के किसी भी पत्रकार का उत्पीड़न चाहे पुलिस करे या प्रशासनिक अधिकारी करे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा और ऐसा करने वाला चाहे कितना भी बड़ा हो सबक जरूर सिखाया जायेगा। साथ ही इस बैठक में जिला विद्यालय निरीक्षक रमेश सिंह द्वारा नगरा के एक दैनिक समाचार पत्र के संबाददाता के घर पर जिस अंदाज में भारी फ़ोर्स लेकर हड़काने की कोशिश की गयी| उसकी सभी सदस्यों ने एक स्वर से भर्त्सना की और रमेश सिंह को जनपद में माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाओं में पर्चा आउट और नकल के लिये पूरी तरह से जिम्मेदार बताते हुए इनके कारनामो को उजागर करने के लिये जुट जाने की बात कही । साथ ही इनके कृत्यों को वरीयता के आधार पर दिखाने और छापने की बात भी सदस्यों द्वारा कही गयी। साथ ही नगरा के पत्रकार के घर सीओ, तीन थानों की पुलिस और एक ट्रक पीएसी के साथ एसओजी की दो टीमो के द्वारा दबिश की कार्यवाई पर भी सभी लोगों ने आक्रोश व्यक्त किया। वक्ताओं ने कहा कि बलिया पुलिस रसड़ा के पत्रकार की बाइक, बलिया शहर मुख्यालय के फोटोग्राफर आलोक रंजन की बाइक और कैमरा तो ढूढने में आजतक नाकाम है लेकिन पेपर आउट की खबर छापने वाले पत्रकार के घर माध्यमिक की परीक्षा को नकल का महाकुम्भ बना देने वाले डीआईओएस के कहने पर पहुँच जाती है बड़े ही शर्म की बात है।

बैठक में यह भी तय किया गया कि अब किसी भी पत्रकार साथी का उत्पीड़न सहन नहीं किया जायेगा। बैठक में पीड़ित पत्रकार बृजेश सिंह ने अपने साथ हुए दुर्व्यवहार को सदस्यों से बताया। सभी सदस्यों ने एक मत से संयुक्त पत्रकार एसोसिएशन नामक संगठन बनाने पर अपनी मुहर लगा दी। संगठन के स्वरुप पर चर्चा में वक्ताओं ने कहा कि इसमें पत्रकारिता करने वाले साथियो को जोड़ा जाये, साथ ही ऐसे साथियों से दूर रहा जाय जो पत्रकारिता की आड़ में अपना दूसरा व्यवसाय संरक्षित रखना चाहते है। आसिफ जैदी ने टूटे हुए अंगूर और गुच्छे वाले अंगूर का उदहारण देकर संगठन बनाने के लिये प्रेरित किया। बलराम सिंह ने कहा कि संगठन लोकतान्त्रिक और सदस्यों के हितों को संरक्षित करने वाला हो , जेबी संगठन न हो । मुकेश मिश्र ने कहा कि संगठन नीचे से ऊपर के क्रम में बने और सबको जबाबदेह हो। संतोष शर्मा ने क्षेत्रीय पत्रकारों की समस्याओं को दूर कराने में सहयोग करने वाले संगठन के निर्माण पर जोर दिया। रजनीश श्रीवास्तव ने अधिक से अधिक सदस्यों को जोड़ने और एक दूसरे के सहयोग करने की बात कही। सोमनाथ वर्मा ने बेदाग छवि वाले संगठन बनाने की बात कही तो दिनेश गुप्ता ने पत्रकारों के उत्प्रिडन को तत्काल बन्द कराने के लिये पहल करने की बात कही। प्रदीप गुप्ता ने अधिकारियों द्वारा खबर न छापने और छापने पर मुकदमा लिखाने की धमकियों से न डरते हुए घोटालो की सबूत हो तो खबरे बेहिचक छापने की सलाह दी । साथ ही मुकदमो को सच्चे पत्रकार का गहना कहा । मुन्ना जी ने छोटो को बड़ो का सम्मान करने और बड़ो से छोटो को सीख देने की बात कही । अजय सिंह ने कहा कि एक दूसरे की बुराई बन्द करके ऐसा करने की जुर्रत करने वालो को सबक सिखाना चाहिये ।दिग्विजय सिंह ने अपने उन साथियो से सावधान रहने की बात कही जो साथ रहते हुए साथी को फंसाने की साजिश रचते हो । सर्वेंद्र सिंह ने तल्ख़ लहजो में डीआईओएस बलिया के नगरा प्रकरण में कृत्य की निंदा करते हुए सदस्यों को आश्वासन दिया कि मैं और यह संगठन अपने साथियों के पक्ष में पहाड़ बनकर खड़ा रहेगा। नरेंद्र मिश्र ने स्वच्छ और बेदाग तथा सभी पत्रकार साथियो के हित को सुरक्षित रखने वाले संगठन बनाने की बात कही। रवि सिन्हा ने सभी को साथ लेकर चलने वाले संगठन के निर्माण पर जोर दिया । मुशीर जैदी ने लोकतान्त्रिक तरीके से संगठन के निर्माण और संचालन पर जोर देते हुए कार्यो में पारदर्शिता होगी ऐसी आशा व्यक्त की । इससे पहले सभा का संचालन करने वाले मधुसूदन सिंह ने सदस्यों के समक्ष प्रस्तावित संगठन की रुपरेखा और संगठन के उद्देश्यो पर प्रकाश डाला ।

शशिकांत तिवारी ने अपने संबोधन में कहा कि इस बैठक में मै ‘मै’ बनकर आया था लेकिन अब हम बनकर जाऊंगा । बैठक की अध्यक्षता करते हुए सरदार मंजीत सिंह ने कहा कि यह प्रस्तावित संगठन हर कोण से पारदर्शी होगा और सदस्यों के साथ साथ अन्य पत्रकार साथी जो सदस्य नहीं भी होंगे उनके लिये जरुरत पर खड़ा होने का काम करेगा । अन्य वक्ताओं में मुश्ताक मंजर , सुदेश्वर अनाम(स्वतंत्र पत्रकार/आर्टीकल लेखक), सुनील सेन , शिवशंकर राम , राहुल श्रीवास्तव , जमाल , अखिलेश , राधेश्याम पाठक , विनय कुमार , घनश्याम तिवारी,सीताराम शर्मा , कृष्ण शर्मा , राजू राय , शिवशंकर प्रसाद , राणा प्रताप सिंह , संजय तिवारी , श्री कृष्ण तिवारी मकालू , अजीत कुमार ओझा , अखिलेश कुमार यादव , दुर्गेश पांडेय , रत्नेश सिंह , राजू दुबे , हर्ष नारायण , दीपक तिवारी आदि ने भी अपने अपने विचार व्यक्त किया ।

सदस्यता अभियान 14 अप्रैल तक-
संयुक्त पत्रकार एसोसिएशन का सदस्यता अभियान 14 अप्रैल तक चलाने का निर्णय किया गया । साधारण सदस्य बनने के लिये 250 रुपये सदस्यता शुल्क रखा गया है वही सक्रिय सदस्यता शुल्क 1100 रुपये रखा गया है । सदस्यता अभियान चलाने के लिये प्रत्येक तहसील के लिये सदस्यता प्रभारियो की एक एक कोर टीम का चुनाव कर दिया गया है वही जनपद स्तर पर सदस्यता अभियान से लेकर संगठन के निर्माण के लिये जिला स्तरीय 11 सदस्यी कोर कमेटी का भी गठन किया गया है ।

जनपद स्तरीय कोर कमेटी-
सरदार मंजीत सिंह , शशिकांत तिवारी,सर्वेंद्र सिंह,मधुसूदन सिंह,रवि सिन्हा, नरेंद्र मिश्र , विनय कुमार , मुशीर जैदी, एसएन राय ,आसिफ जैदी ,राधेश्याम पाठक

तहसील स्तरीय कमेटी

सिकन्दरपुर – घनश्याम तिवारी, संजय तिवारी , संतोष शर्मा , संजीव सिंह , रजनीश श्रीवास्तव

रसड़ा – संजीव बाबा, दिग्विजय सिंह , सीताराम शर्मा

बांसडीह – शिवशंकर प्रसाद, मनोज यादव , सुनील कुमार श्रीवास्तव , दीपक कुमार तिवारी

बेल्थरा रोड – अशोक जी , अंजनी राय , शीतल प्रसाद गुप्ता , राजू राय

बैरिया- अमित सिंह , आनन्द दूबे , बसंत सिन्हा , राहुल श्रीवास्तव

बलिया- मुकेश मिश्र , जमाल, रजनीश श्रीवास्तव , दिनेश गुप्ता, अजय राय

रिपोर्ट- संतोष कुमार शर्मा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here