कार्यवाही न करने पर न्यायाधीश ने विवेचक को केस डायरी के साथ व्यक्तिगत रूप से किया तलब

0
123

सुलतानपुर (ब्यूरो)- फर्जीवाड़े के मामले में लापरवाही बरतने वाले विवेचक के खिलाफ कोर्ट ने कड़ा रुख अपनाया है। एसीजेएम चतुर्थ मनीष निगम ने विवेचक को केस डायरी के साथ आगामी 30 मार्च को तलब किया है।

आपको बता दें कि मामला कुड़वार थानाक्षेत्र के खाझापुर गांव का है। गांव निवासी ज्ञानेन्द्र तिवारी ने करीब सात माह पहले बैनामे में हुए फर्जीवाड़े के सम्बन्ध में अदालत में अर्जी देते हुए मुकदमा दर्ज कराने की फरियाद की थी। जिसके क्रम में गांव के ही वीरेन्द्र कुमार, लक्ष्मीकान्त, राजकली व कृष्णप्यारे त्रिपाठी तथा वंशी दूबे के खिलाफ धमकी व जालसाज करने सहित अन्य आरोपो में मुकदमा दर्ज हुआ।

मामले में मुकदमा दर्ज होने के कई माह बाद भी अभी तक आरोपियो के विरुद्ध कोई कार्यवाही नही हो सकी है। आरोप के मुताबिक नामजद आरोपियो पर कार्यवाही के बजाय पुलिस संरक्षण दे रही है। इसी मामले में पड़ी मॉनिटरिंग अर्जी के क्रम में अदालत ने विवेचक से आख्या मांगी, लेकिन विवेचक अदालत को आख्या भेजना भी मुनासिब नही समझा। इस लापरवाही पर कड़ा रुख अपनाते हुए न्यायाधीश मनीष निगम ने विवेचक को केस डायरी के साथ व्यक्तिगत रूप से तलब किया है।

रिपोर्ट- संतोष यादव

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY