कभी टीन के बिल्ले के लिए बच्चे तांगे व इक्के के पीछे दौडते थे

0
250

current voting1

समय परिवर्तन शील है समय के साथ सभी को बदलना पड़ता है जो अपने को नही बदल पाता वही रेस से बाहर हो जाता है। याद करिये उस दौर को जब गांवो में सड़के नही बनी थी प्रत्याशी साईकिल से गांव-गांव मतदाताओ से मिलते थे, फिर प्रत्याशी व उनके समर्थक प्रचार करने मोटर सायकिल से समूह में निकलने लगे एक तरफ से लोगो से मिलते थे अब तो सब कुछ बदल गया जनसम्पर्क नही रोड शो हो रहे है |

जब गांव में किसी पार्टी के लोग पहुँचते तो कागज व टीन से बने बिल्ले को पाने के लिए बच्चे इक्के व तांगे के पीछे दौड़ पड़ते थे। वह यह नही देखते थे कि किस दल का है अब तो सब कुछ अलग सा दिखता है। जब चुनाव की बात चलती है तो गावो के बुजुर्ग पुरानी यादो में खो जाते है कहते है कि मैने अपना पहला वोट जब दिया था, तब इस तरह न गाड़ियां थीं और न ही रास्ते। धूल भरे रास्ते पर कार्यकर्ता इक्के, तांगे से व पैदल पहुंचते थे।

वे कहते है कि, कभी कभार ही कोई प्रत्याशी किराए की जीप से आता था। कार्यकर्ता लाई गुड़ पर ही पूरा दिन प्रचार करते थे। कार्यालय पर ही माईक व झंडा दिखता था जहां बजते गीत सबका मन मोहते थे। जिसमे मिठास थी, चला सखी वोट दई आई मोहर अबकी..पर लगाई, अबकी जौ हरबा त कौन मुंह देखउबा, लुकाबा अरहरि अरहरि बलम अबकी हरबा करारी।

उनके अनुसार पहले के चुनाव नारों व मुद्दों पर लड़े जाते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं दिखता है, मुद्दे नदारद रहते हैं। आज के चुनाव में धन एवं बल का भरपूर इस्तेमाल होता है। पहले चुनाव में वोट डालने से एक दिन पूर्व चौपाल लगती थी। सभी प्रत्याशियों पर विचार विमर्श किया जाता है। उसी में चयन कर वोट किया जाता था। सुबह से ही हम लोग वोट डालने के लिए लाइन में लग जाते थे तब कहीं जाकर शाम तक नंबर आता था। तब बैलट पेपर का इस्तेमाल होता था डर ये भी रहता था कि कही गुंडे बूथ लूट न ले जाय लेकिन आज बहुत कुछ बदल गया हाईटेक युग में ईवीएम मशीन ने घंटों का काम मिनटों में कर दिया है और नये नियम कायदों से नये तरीके से लोगो के मन मे सुरक्षित मतदान का विश्वास जगा है, हालाकि पुरानी यादें गांवो मे बुजुर्गो के मन मतिष्क में आज भी ताजी है।

लेखक-संतोष कुमार
रिपोर्टर- अखण्ड़ भारत (सुल्तानपुर)

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here