कलियुग मे भागवतकथा सुनने से ही पार होता है भवसागर

0
58
प्रतीकात्मक फोटो

लालगंज/रायबरेली (ब्यूरो)- लालगंज विकास खण्ड के अम्बारा पषिचम गांव मे भगवान कृष्ण की भागवत कथा रूपी सत्संग का वाचन अयोध्या से आये पं0 श्रीरामजी शास्त्री द्वारा किया जा रहा है।

भागवतकथा वाचक पं0 श्रीरामजी शास्त्री ने भागवत कथा के समापन पर कहा कि मनुष्य के जीवन मे चार बार बैराग्य होता है।बैराग्य के समय मे मानो तो अपना मन भगवत भजन मे लगाना चाहिये। व्यासजी ने कहा कि कलियुग मे रामकथा व भागवत कथा रूपी सत्संग से ही कल्याण का मार्ग और मोक्ष की प्राप्ति हो सकती है।

भागवतकथा सुनने से लोभ,मोह,क्रोध नष्ट होता है। मनुष्य सज्जनता को प्राप्त होता है। इस अवसर पर भाजपा नेता राजेन्द्र मिश्रा, दीप प्रकास शुक्ला, शिवशंकर मिश्रा, रमासंकर मिश्रा, संजय मिश्रा, दीपक मिश्रा, मनोज कुमार, गणेश शंकर, असोक लता मिश्रा, विजय, राजेश मिश्रा, रीतू मिश्रा, छंगालाल बाजपेयी, मुन्नू बाजपेयी आदि लोग मौजूद रहे।

भागवतकथा के समापन अवसर पर प्राथमिक स्कूल रघुनाथगंज के प्रधानाध्यापक दीपक मिश्रा ने गांव के गरीबों को दान स्वरूप पुरूस्कृत कर सम्मानित किया है।

रिपोर्ट- राजेश यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here