कल्लूरी बेलगाम, रमन सरकार हैरान, बस्तर का बनाया मजाक – “आप”

0
104

छत्तीसगढ़- फरवरी की शुरूआत से ही बस्तर से अजीबोगरीब सूचनाएँ और बयान आ रहे हैं। पहले बस्तर आई जी क्ल्लूरी के हटने की खबर आई, फिर मुख्यमंत्री रमन सिंह नें उन्हें बीमार बताया और अब कल्लूरी के स्वस्थ होने और काम करने को आतुर होने की खबर आई है। आम आदमी पार्टी ने बस्तर से आ रही भ्रामक खबरों को लेकर रमन सरकार को कठघरे में खड़ा किया है। पार्टी की आदिवासी नेत्री सोनी सोढ़ी ने इस पूरे घटनाक्रम को बस्तर के साथ हुआ मजाक बताया है। उन्होने आश्चर्य जताया कि कैसे एक व्यक्ति जबर्दस्त बीमार बताया जाता है, जिसकी पुष्टि मुख्यमंत्री खुद करते हैं, और फिर 4 दिनों में ही वही व्यक्ति अपने को काम के लिए फिट घोषित कर देता है। इस पूरे नाटकीय घघटनाक्रम से बस्तर की आत्मा आहत होती है, क्योंकि सभी का ध्यान बस्तर कि समस्या से हटकर इस “नाटक” कि ओर चला जाता है।

“आप” के प्रदेश सचिव नागेश बंछोर ने आशंका जताई है कि कल्लूरी कहीं रमन सिंह के लिए “फ्राइन्कास्टाईन मोंस्टर” तो नहीं साबित हो रहे, यानि कि उन्हें मनमानी की छूट तो रमन सिंह से मिली और अब वे रमन सिंह को ही आँखें दिखा रहे हैं। बस्तर आई जी के रूप में कल्लूरी पर झूठे नक्सली सरेंडर, मानवाधिकार उल्लंघन, सामाजिक एकता मंच और अग्नि जैसी फासीवादी ताकतों को बढ़ावा देने के गंभीर आरोप लगे पर रमन सिंह सरकार ने अपनी आँखें इन आरोपों पर मूँदी रखी। आज उसी का फल है कि जब रमन सिंह कल्लूरी को गंभीर बीमार बता रहे हैं, तो कल्लूरी खुद को फिट बता रहे हैं।

आम आदमी पार्टी ने रमन सरकार से कहा कि बस्तर के मामले का समाधान चर्चा के माध्यम से ही हो सकता है। बेहतर है सरकार कल्लूरियों को बनाने-बिगाड़ने के बजाय इस समस्या के समाधान के लिए चर्चा का सहारा ले।
रिपोर्ट-हरदीप छाबडा
हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY