दशकों से झूठे चुनावी वादों का शिकार ग्रामीणों ने किया चुनाव बहिष्कार का ऐलान

0
249

कन्नौज : सपा का गढ़ कहे जाने वाले कन्नौज जिले में समाजवादियों की राह 2107 विधान सभा चुनाव में आसान होती नजर नही आ रही। अपनों से लड़ाई में जूझ रही सपा के आगे अब ग्रामीण इलाको में रहने वाले लोगो ने मतदान का बहिस्कार कर मुश्किल बढ़ा दी हैं। यहाँ लोगो का कहना है रोड नहीं तो वोट नहीं |

यूपी में विधान सभा चुनाव में जीत के लिए कड़ी कवायद में जुटे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को उनके ही गढ़ माने जाने वाले कन्नौज जिले में सपा सरकार में मंत्री व विधायक विजय बहादुर पाल को विधान सभा क्षेत्र तिर्वा में लोगों ने बड़ा झटका दिया है। मंत्री विजय बहादुर पाल के विधान सभा क्षेत्र के गांव फतेहपुर कापुरपुर के सभी मतदाताओं ने सामूहिक रूप से मतदान का बहिष्कार कर मंत्री विजय बहादुर पाल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

मामला कन्नौज जिले के तिर्वा विधान सभा छेत्र के फतेहपुर कापुरपुर गांव का है यहाँ के ग्रामीणों ने इस बार गांव में विकास नहीं तो वोट नहीं के नारे के साथ चुनाव बहिष्कार कर दिया। इस गांव में अगर वोट की बात करे तो करीब 1 हज़ार वोट है। चुनाव बहिष्कार पर ग्रमीणों का साफ़ साफ़ कहना है की हमारे गांव कोई भी विकास नहीं हुआ है सड़के आज टूटी पड़ी है पानी की कोई व्यवस्था नही है और लाइट तो आती ही नहीं है और हमारे छेत्र में चुनाव जीत जाने के बाद आज तक विधायक व मंत्री विजय बहादुर पाल आये तक नहीं है और गांव आज भी बदहाली के आशू रो रहा है। ऐसे में चुनाव का बहिष्कार हुआ तो सीधा फर्क और नुकसान सपा को होगा।

रिपोर्ट – सुरजीत सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here