पानी की समस्या से जूझ रहा कन्नौज, कुछ इलाके हुए डार्क जोन घोषित

0
102

कन्नौज : पानी की किल्लत से बुन्देलखण्ड ही नहीं कन्नौज भी इस समस्या से जूझ रहा है । कन्नौज के दो विकास खण्ड डार्क जोन घोषित किये जा चुके है इसके बाद भी यहाँ का प्रशासन नहीं चेत रहा है । कन्नौज में मक्का की खेती अधिकतम क्षेत्रफल में होती है । इसमें पानी 10 से 12 बार लगाया जाता है ।

कन्नौज में दो विकास खण्ड डार्क जोन घोषित किये जा चुके इसके बाद भी जनपद में सबसे ज्यादा जल दोहन करने वाली फसल की जा रही है । कन्नौज में कई हेक्टेयर में आलू की फसल के बाद मक्का की फसल की बुबाई की जाती है जिसमें पानी 10 से 12 बार लगाया जाता है । जबकि अन्य फसलों में 3 से 4 बार ही पानी लगाना पड़ता है । ऐसी स्तिथ में मक्का की फसलो में पानी अन्य फसलों के मुकाबले दस गुना ज्यादा खर्च होता है जो किसानो के लिए ही नहीं जनपद के लोगो के लिए एक गम्भीर समस्या बन सकती है ।

किसान ज्यादा मुनाफे के चक्कर में मक्का की फसल की ओर भाग रहा है जबकि कई बार कृषि बिभाग द्वारा किसानो को गोष्ठी के माध्यम से कम पानी की फसलो के बारे में जानकारी दी गई ।लेकिन इस ओर न तो जनपद के किसानो ने ध्यान दिया और न ही जिला प्रशासन ही गम्भीरता से ले रहा है ।
जबकि पिछले 3 बर्ष पहले जनपद में सूरज मुखी की फसले की जाती रही लेकिन उसमे भी पानी का ज्यादा दोहन होने से सूरज मुखी के बीज पर ही रोक लगा दी गई तो उसकी बुवाई किसानों ने बन्द कर दी । अब जब तक जिला प्रशासन ही रोक य कम क्षेत्रफल में मक्का की फसल का आदेश नहीं जारी करता तब तक जनपद में मक्का की फसल होती रहेगी । जो हम लोग पाँच वर्ष में पानी खपत करते है बो मक्के की फसल एक बार करने से खर्च होता है, जो एक सोचने वाली बात है । जबकि जल निगम भी जनपद के इन दो विकास खण्डों को चेतावनी दे चुका है की ज्यादा जल दोहन न करें नही तो इसके परिणाम अच्छे नहीं होंगे ।

वहीं इस सम्बन्ध में जिला कृषि अधिकारी राजरान कटियार ने बताया की मक्का की फसल से सबसे ज्यादा जल दोहन होता है जबकि कन्नौज के दो विकास खण्ड डार्क जोन घोषित किये जा चुके है ऐसी परिस्थियों में किसानो को मक्का की फसल के बजाए अन्य फसलों को करना चाहिये ।

रिपोर्ट – सुरजीत सिंह

हिंदी समाचार- से जुड़े अन्य अपडेट लगातार प्राप्त करने के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज और आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here